पुलवामा अटैक: सूरत के बिजनेसमैन ने बेटी की शादी का रिसेप्शन कैंसिल किया, शहीदों के नाम डोनट किए 11 लाख रुपए

Views : 4685  |  0 minutes read
chaltapurza.com
पुलवामा अटैक के बाद हर देश प्रेमी की आंखों में नमी और दिल में बदले की भावना है। गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकवादी हमले में अब तक सीआरपीएफ के 44 बहादुर जवान शहीद हो गए। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर अवंतीपोरा के पास गोरीपोरा में हुए आत्मघाती हमले के बाद पूरे देश में गमगीन माहौल है। देशभर में जगह-जगह पर कैंडल मार्च निकाले जा रहे हैं और शोक सभाएं आयोजित की जा रही हैं। वहीं, दूसरी तरफ सोशल मीडिया पर भी लोग अपना गुस्सा ज़ाहिर कर रहे हैं। कई राज्यों ने शहीदों के परिवारों को मदद देने की घोषणा की है। देश और अपने बहादुर सैनिकों से प्रेम करने वाला हर सख़्श अपने-अपने तरीके से शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दे रहा है। इसी बीच गुजरात के एक हीरा व्यापारी ने शहीदों की मदद के लिए जो फैसला लिया है उसकी पूरे देश में सराहना हो रही है। हीरा व्यापारी का यह तरीका एक नई पहल होने के साथ ही शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि देने की दिशा में एक मिसाल है। आइए हम आपको बताते हैं इस व्यापारी ने ऐसा क्या है जिसकी देशभर में सराहना हो रही है..

chaltapurza.com

हीरा व्यापारी ने बेटी की शादी के भोज समारोह को किया रद्द

गुजरात के सूरत निवासी एक हीरा व्यापारी ने बेटी की शादी के भोज समारोह को रद्द कर दिया है। इसके साथ ही शादी के शेष कार्यक्रम भी सादगी से करने का निर्णय लिया है। सूरत के पद्‍मावती डायमंड के मालिक हंसमुख भाई सेठ की बेटी की शुक्रवार को शादी होने जा रही थी। लेकिन पुलवामा में भारतीय जवानों पर हुए कायराना आतंकी हमले के बाद उन्होंने शादी के अहम कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। हीरा व्यापारी के इस सराहनीय कदम में उनके रिश्तेदार बनने जा रहे वर पक्ष वाले व दूसरे हीरा कारोबारी केएम एसोसिएट्‍स के मालिक अजय संघवी ने भी पूरा साथ दिया है। दोनों रिश्तेदारों ने मिलकर शादी के बाद होने वाले रिसेप्शन के प्रोग्राम को तो कैंसिल किया ही है साथ ही उससे बचने वाली 11 लाख रुपए की राशि को शहीद जवानों के परिवारों को देने का सराहनीय फैसला किया है। इसके साथ ही इन्होंने शहीद परिवारों की मदद के लिए आगे आ रहे स्वयंसेवी संस्थाओं को भी 5 लाख रुपए देने का ऐलान किया है।
chaltapurza.com
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है एक निमंत्रण-पत्र
सीआरपीएफ जवानों पर हुए इस आत्मघाती अटैक के बाद सोशल मीडिया पर एक निमंत्रण-पत्र वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे इस निमंत्रण-पत्र में लिखा गया है कि हमारी बेटी अमी और मितना का शुभ विवाह होना है। लेकिन पुलवामा में हुए दर्दनाक आतंकी हमले में देश के 44 जवान शहीद होने पर हमने और हमारे समधी ने आपस में यह तय किया कि अब शादी पूरी तरह से सादगी के साथ होगी। हमने शादी के भोज समारोह को रद्द करने का संयुक्त निर्णय लिया है। इसके साथ ही हमने शहीदों की स्मृति में सेवा संस्थाओं को 5 लाख रुपए और शहीदों के परिवार को संयुक्त रूप से 11 लाख देने का फैसला किया है। पत्र में सेठ देवाशी माणेक परिवार-भाभर-सूरत, हसमुखभाई शेठ, पद्मावति डायमंड और संघवी पानाचंद लक्ष्मीचंद परिवार अजयभाई कुमारभाई संघवी का नाम अंकित है।
chaltapurza.com
जम्मू-कश्मीर में अब तक का सबसे बड़ा आतंकी हमला
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जम्मू-कश्मीर में गुरुवार को हुआ आतंकवादी हमला अब तक का सबसे बड़ा आतंकी हमला है। गुरुवार को सीआरपीएफ का बड़ा काफिला जम्मू से कश्मीर की ओर जा रहा था। इस काफिले में सीआपीएफ की 78 गाड़ियां शामिल थीं। इनमें कई बटालियनों के 2500 से ज्यादा जवान सवार थे। आतंकियों ने जवानों की जिस बस को निशाना बनाया, उसमें 40 से ज्यादा जवान मौजूद थे। जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार उर्फ वकास ने भारी विस्फोटक से लदी स्कार्पियो कार को बस से भिड़ा दिया था। धमाके की गूंज 10 किलोमीटर तक सुनाई दी। आतंकियों ने इस दौरान सीआरपीएफ काफिले पर फायरिंग भी की थी। इस हमले में सीआरपीएफ के 44 जवान शहीद हो गए। लगभग दो दर्जन जवान जख्मी हैं। इनमें से कई की हालत गंभीर बनीं हुई है।

Read More: ‘नो कास्ट, नो रिलिजन’ वाली पहली भारतीय महिला है स्नेहा, जंग जीतने में लगे 9 साल

COMMENT