पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का किया ऐलान, संबोधन में कहीं ये बातें

Views : 603  |  4 minutes read
PM-Modi-Speech-and-Announcement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राष्ट्र को संबोधित करते हुए बड़ा ऐलान किया। पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत गुरुनानक देव की जयंती पर देशवासियों को प्रकाशपर्व की शुभकामनाएं देते हुए कीं। इस दौरान पीएम मोदी ने तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान किया। आपको बता दें कि केंद्र सरकार बीते साल कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए तीन नए कृषि कानून लेकर आई थी, लेकिन कई किसान संगठन इन कृषि कानूनों का लगातार विरोध कर रहे थे।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘कृषि में सुधार और किसानों के हित के लिए तीन कानून लाए गए थे। इन कानूनों से छोटे किसानों को और ताकत मिलती, सालों से ये मांग देश के किसान, विशेषज्ञ और अर्थशास्त्री कर रहे थे। जब ये कानून लाए गए, तो संसद में इस पर खूब चर्चा हुई। देश के किसानों, संगठनों ने इसका स्वागत किया, समर्थन किया। मैं सभी का बहुत आभारी हूं।’

शायद हमारी तपस्या में कहीं कमी रह गई: प्रधानमंत्री मोदी

पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि हमारी सरकार किसानों के कल्याण के लिए, देश के कृषि जगत के हित में पूर्ण समर्थन भाव से, नेक नियत से ये कानून लेकर आई थी ताकि छोटे किसानों का भला हो सके, लेकिन इतनी पवित्र बात पूर्ण रूप से किसानों के हित की बात हम कुछ किसानों को समझा नहीं पाए, शायद हमारी तपस्या में कहीं कमी रह गई। भले ही किसानों का एक वर्ग इसका विरोध कर रहा था। हमने कई बार बातचीत का भी प्रयास किया, ये मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा। इसके बाद हमने कृषि कानूनों को वापस लेने का फैसला किया।

संसद सत्र में शुरू करेंगे कानून वापस लेने की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले एक साल से आंदोलनरत किसानों से अपने घर वापस लौटने का आग्रह करते हुए तीनों कानून वापस लेने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि इस महीने के अंत में संसद सत्र शुरू होने जा रहा है, उसमें तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की संवैधानिक प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। पीएम मोदी ने कहा कि जो कर रहा हूं, देश के लिए कर रहा हूं।

आंदोलनकारियों से वापस घर लौटने की अपील की

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मैं आंदोलन कर रहे किसानों से गुरु पर्व के मौके पर अपील करता हूं कि आप वापस अपने अपने घर लौट जाएं। आप खेतों में लौटें, परिवार के बीच लौटें, आईए मिलकर एक नई शुरुआत करते हैं।’

छोटे किसानों को नए कृषि कानूनों से फायदा

प्रधानमंत्री ने आगे कहा कि किसानों को ज्यादा फायदे के लिए फसल बीमा योजना को प्रभावी बनाया गया। आज छोटे किसानों को फसल बीमा का लाभ मिल रहा है। किसान हित को प्राथमिकता दी गई है। 22 करोड़ किसानों को सॉयल हेल्थ कार्ड दिए गए हैं। सरकार ने किसानों से रिकॉर्डतोड़ खरीदारी की है। किसान हित के लिए कई पुराने कानून खत्म किए गए हैं। पीएम मोदी ने कहा कि आज देश सपनों को पूरा होते देख रहा है। देश में 100 में से 80 किसान छोटे हैं। 80 फीसदी किसानों के पास 2 हेक्टेयर से कम जमीन है। छोटो किसानों की संख्या 10 करोड़ से ज्यादा। छोटे किसानों को ताकत देने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है।

मैंने किसानों की परेशानियों को बहुत करीब से देखा

राष्ट्र के नाम अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने किसानों की समस्याओं के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि किसानों की परेशानियों को मैंने बहुत नजदीक से देखा है। सरकार ने किसानों की चुनौतियों को कम करने के लिए कृषि कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है।

Read Also: जाकिर नाइक के ‘इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन’ पर भारत में इतने साल के लिए लगा प्रतिबंध

COMMENT