पाक ने कुलभूषण जाधव से मिलने गए भारतीय अधिकारियों बिना शर्त प्रवेश नहीं दिया, विरोध जताकर लौटे

Views : 2891  |  3 minutes read
Jadhav-Case-Pakistan

भारतीय अधिकारियों को कुलभूषण जाधव से मिलने के लिए बिना शर्त प्रवेश नहीं दिया गया। विदेश मंत्रालय ने बताया कि पाकिस्तानी अधिकारी जाधव और भारतीय अधिकारियों की मुलाकात के दौरान उनके काफी करीब मौजूद रहे। भारतीय पक्ष की ओर से इस पर आपत्ति जताने के बाद भी पाकिस्तानी अधिकारी वहां से नहीं हटे। बता दें, भारतीय अधिकारी पाकिस्तान में मौत की सजा प्राप्त कुलभूषण जाधव से मिलने के लिए पाकिस्तान गए थे। इस मुलाकात के बाद विदेश मंत्रालय ने बताया है कि राजनयिक अधिकारियों को कानूनी प्रतिनिधित्व की व्यवस्था के लिए कुलभूषण जाधव की लिखित सहमति हासिल नहीं करने दी गई। पाक के इस रुख पर भारतीय अधिकारी विरोध जताने के बाद वहां से लौट आए।

विदेश मंत्री ने घटनाक्रमों से जाधव के परिवार को अवगत कराया

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इन घटनाक्रमों से कुलभूषण जाधव के परिवार को अवगत कराया है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि मुलाकात के स्थान पर लगे दिख रहे कैमरे से भी यह स्पष्ट होता है कि जाधव और भारतीय अधिकारियों के साथ हो रही बातचीत को रिकॉर्ड किया जा रहा था। कुलभूषण जाधव स्पष्ट तौर पर तनाव में दिख रहे थे और उन्होंने इस बात के भारतीय अधिकारियों को स्पष्ट संकेत भी दिए थे। मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से की गई व्यवस्थाओं ने एक मुक्त संवाद की अनुमति नहीं दी।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह साफ है कि इस मामले में पाकिस्तान का रवैया समस्या पैदा करने वाला और असंवेदन-शील है। पाकिस्तान कुलभूषण जाधव मामले में न केवल अपनी ही बात से पलटा है, बल्कि उसने इस मामले में साल 2019 में अंतरराष्ट्रीय अदालत द्वारा दिए गए फैसले का पूरी तरह पालन करने के आश्वासन का भी उल्लंघन किया है।

पाकिस्तान जाधव को तीन साल पहले सुना चुका है मौत की सज़ा

आपको बता दें कि जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की जेल में बंद कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान ने गुरुवार को दूसरी बार राजनयिक पहुंच की मंजूरी दी। भारतीय नौसेना के सेवानिवृत अधिकारी 50 वर्षीय जाधव को जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने अप्रैल 2017 को मौत की सजा सुनाई थी। इसके बाद भारत ने मौत की सजा को चुनौती देने के लिए अंतरराष्ट्रीय न्यायालय यानी आईसीजे का दरवाजा खटखटाया था।

Read More: हाईकोर्ट में 9 जजों की स्थायी नियुक्ति को सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने दी मंजूरी

हेग स्थित आईसीजे ने कहा था कि पाकिस्तान को कुलभूषण जाधव को दोषी ठहराने और सजा की प्रभावी समीक्षा करनी चाहिए और बिना कोई देरी के भारत को राजनयिक पहुंच प्रदान करनी चाहिए, लेकिन पाक इस मामले में लंबे समय से आनाकानी करता आ रहा है। पाकिस्तान ने अब तक सिर्फ दो बार कुलभूषण जाधव के लिए राजयनिक पहुंच को मंजूरी दी है।

COMMENT