चीन में सार्स जैसे एक ओर वायरस से मची हड़कंप, अब तक तीन लोगों की मौत

Views : 1280  |  2 Minute read
sars

आज के समय में दुनिया भर में कई नई-नई बीमारियां जन्म लेती है, ऐसी ही एक ओर बीमारी उभर कर आई जो चीन में दहशत फैला रही है। खबरों के मुताबिक चीन में लोग सीवियर एक्यूट रेस्पायरेटरी सिंड्रॉम (SARS) जैसे ही एक वायरस की चपेट में आ रहे हैं। सार्स से संबंधित इस वायरस का नाम कोरोना वायरस है। इससे अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं इससे प्रभावित होने वालों के 140 नए मामले सामने आए हैं।

सार्स से संबंधित होने कारण चीन सहित दुनिया के अन्य देश सतर्क हो गए हैं। इससे पहले वर्ष 2002 से 2003 के दौरान चीन और हांगकांग में यह बीमारी करीब 800 लोगों की जान ले चुका है। चीन में कोरोना वायरस वुहान और शेनजेन शहर में धीरे-धीरे यह वायरस अपने पैर पसार रहा है। वहीं अब एक भारतीय टीचर प्रीति माहेश्वरी भी इस वायरस की चपेट में आ चुकी हैं, जोकि चीन में पहली विदेशी नागरिक हैं। इसकी चपेट में आने के बाद से उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। उनको स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। प्रीति माहेश्वरी शेंजेनव के इंटरनेशनल स्कूल में टीचर हैं।

वहीं इस वायरस से लोगों में काफी डर का माहौल है। इस वायरस से वुहान से 17 नए मामले सामने आए हैं।

क्या है कोरोना वायरस?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार कोरोना वायरस सी-फूड से संबंधित है। जोकि विषाणु (Virus) परिवार का है। इसके संक्रमण से लोग बीमारी पड़ रहे हैं। यह वायरस ऊंट, बिल्ली और चमगादड़ सहित कई पशुओं को भी संक्रमित कर रहा है। दुर्लभ स्थिति में पशु मनुष्यों को भी संक्रमित कर सकते हैं।

लक्षण

कोरोना वायरस से पीड़ित रोगियों में जुकाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बुखार आदि शुरुआती लक्षण देखे जाते हैं। धीरे-धीरे ये लक्षण न्यूमोनिया में बदल जाते हैं और किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं। इस वायरस की अभी तक कोई वैक्सीन नहीं बनी है।

COMMENT