बुढ़ापा दिखाने वाले ऐप का ट्रेंड, एक्सपर्ट्स ने उठाए प्राइवेसी पर सवाल

Views : 3413  |  0 minutes read

इंडिया के लोग बड़े भोले हैं, तब ही तो जब भी कोई ट्रेंड आता है वे उसे बिना सोचे समझे फॉलो करने लगते हैं। उसके क्या परिणाम होंगे इतना सोचने की जहमत हमारे इंडियंस नहीं उठाते। हाल ही आपने सोशल ​मीडिया पर रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण की बुढ़ापे वाली फोटो देखी होगी। यह फोटो एक ऐप के जरिए क्रिएट की गई थी। बुढ़ापे में हम कैसे ​दिखेंगे? यह जानने के चक्कर में यह ऐप अब पॉपुलर हो चुका है। ना सिर्फ आम लोग बल्कि सेलेब्स भी इस ऐप के जरिए खुद के बुढ़ापे की फोटोज शेयर कर रहे हैं।


लेकिन यह ऐप आपकी प्राइवेसी में सेंध लगा सकता है और इसे लेकर कई आईटी एक्सपर्ट्स चिंतित हैं। आइए आपको थोड़ा विस्तार से समझाते हैं।

भारत में एक समय Sarahah ऐप का खूब ट्रेंड था, ठीक उसी तरह से ही अब फेस ऐप का ट्रेंड शुरू हुआ है। FaceApp एक ऐसा ऐप है जो आजकल हर किसी की जुबां पर है। हालांकि यह ऐप नया नहीं है, लेकिन भारत में आज कल ये ट्रेंड में है। दरअसल इस ऐप में कई फीचर्स हैं जिनमें से एक चेहरे को बूढ़ा दिखाने वाला है।

FaceApp के मुताबिक कंपनी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस टेक्नॉलजी का यूज करके ऐसा करती है। ये ऐप 2017 में लॉन्च हुआ था। फोटोज को एडिट करने के लिए ये ऐप न्यूरल नेटवर्क यूज करता है। न्यूरल नेटवर्क आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का ही एक प्रकार है। न सिर्फ ऐज बल्कि इस ऐप से यंगर लुक, जेंडर स्वैप जैसे टास्क भी किए जा सकते हैं।

FaceApp की प्राइवेसी पॉलिसी के अनुसार, जब भी आप हमारी सर्विस यूज करते हैं, हमारी सर्विस ऑटोमैटिकली कुछ लॉग फाइल इनफॉर्मेशन रिकॉर्ड करती है। इनमें आपका वेब रिक्वेस्ट, आईपी अड्रेस, ब्राउजर टाइप, यूआरएल और आप इस सर्विस के साथ कितनी बार इंटरऐक्ट करते हैं इस तरह की जानकारी शामिल है।

पॉलिसी में ये भी कहा गया है कि कंपनी यूजर डेटा बिना उनके इजाजत के नहीं बेचेगी और न ही किसी को रेंट पर देगी। हालांकि फेस ऐप के ग्रुप की कंपनियों को आपका डेटा दिया जा सकता है, क्योंकि आपने इसके कॉन्सेंट दिया है। कंपनी की पॉलिसी के मुताबिक अगर कंपनी चाहे तो थर्ड पार्टी एडवार्टाइजिंग पार्टनर्स को कुछ जानकारियां दे सकती है। इनमें कूकज डेटा शामिल हैं।


इस ऐप के वायरल होने के बाद कुछ लोगो ने प्राइवेसी को लेकर सवाल उठाए हैं। जिस फोटो को आप एडिट कर रहे हैं उसका सौ प्रतिशत परमिशन आप उस ऐप को दे रहे हैं।

वेब डवेलपर जॉशुआ नॉजी ने ट्वीट किया है कि FaceApp से सावधान रहें। ये फेस ऐजिंग ऐप बिना आपसे पूछे आपकी फोटोज को अपलोड कर रहा है। ये ऐप फ्री है, लेकिन इस ऐप के कई फीचर्स प्रीमियम हैं और उन्हें यूज करने के लिए इन ऐप परचेज का यूज करना होगा यानी आपको पैसे देने होंगे।

COMMENT