ड्यूटी पर ये सब सामान लेकर गए हैं कर्नल धोनी, नहीं मिलेगा कोई स्पेशल ट्रीटमेंट

Views : 2384  |  0 minutes read

इंडियन क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने बुधवार को जम्मू—कश्मीर में बतौर कैप्टन अपनी ड्यूटी शुरू कर दी है। महेन्द्र सिंह धोनी पैरा कमांडो की बटालियन में 15 दिन तक काम करेंगे। कश्मीर में धोनी अब सेना के साथ गश्त करेंगे।

जब से धोनी ने सेना में काम करने का फैसला किया तभी से वो चर्चा में आ गए। बुधवार को उन्होंने कश्मीर की आतंकवाद विरोधी यूनिट में पहले दिन ड्यूटी की। इस बार एमएस धोनी स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त भी वहीं मनाएंगे। बताया जा रहा है कि धोनी 15 अगस्त के बाद धोनी ट्रेनिंग के लिए बेंगलुरु जाएंगे।

धोनी के बैग में क्या-क्या खास सामान है?

कर्नल धोनी ट्रेनिंग पर अपने साथ काफी सारा सामान लेकर गए हैं। वह यहां करीब 19 किलोग्राम वजनी बैग लेकर तैनात हैं। अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर उनके बैग में क्या-क्या सामान है। धोनी अपने बैग में 3 मैग्जीन, अपनी वर्दी, जूते, 3-6 ग्रेनेड, हेलमेट और बुलेट प्रूफ जैकेट लेकर गए हैं। इन सभी सामानों का कुल वजन 19 किलो है।

जिस बटालियन में धोनी शामिल होंगे उसके मिले-जुले सैनिक है। धोनी की बटालिया में करीब 700 सैनिक हैं इसमें गोरखा, सिख, राजपूत और जाट रेजिमेंट शामिल हैं। धोनी को बटालियन में दिन और रात दोनों शिफ्टों में गश्त करना होगा।

धोनी को नहीं मिलेगा कोई स्पेशल ट्रीटमेंट

एमएस धोनी भले ही एक सेलिब्रेटी हैं मगर सेना में वो बिल्कुल आम सैनिकों की तरह ही रहेंगे। यहां उनको किसी तरह का कोई स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं दिया जाएगा। धोनी ने फैसला किया है कि वो ऑफिसर्स मैस में नहीं रहेंगे बल्कि वो भी दूसरे सैनिकों की तरह बैरक में ही रहेंगे। धोनी वही खाना खाएंगे जो दूसरे सैनिक यहां खाते हैं। उनको सप्ताह में सिर्फ तीन दिन ही बटर चिकन मिलेगा।

ड्यूटी के दौरान ये सब करेंगे धोनी

अब जानिए धोनी अपनी 15 दिन की ड्यूटी में क्या—क्या करेंगे। श्रीनगर के बादामी बाग कैंट एरिया में धोनी 8-10 सैनिकों के दस्ते में गश्त करेंगे। उन्हें बुलेटप्रूफ जैकेट, एके-47 राइफल और 6 ग्रेनेड दिए जाएंगे। इस ड्यूटी का मकसद लोगों के साथ मेल-मिलाप और इलाके से खुफिया जानकारियां जुटाना होता है।

इसके अलावा धोनी गार्ड यूनिट में रखवाली का काम भी करेंगे। गार्ड के रूप में उनको दिन और रात दोनों शिफ्टों में काम करना पड़ेगा। दिन की ड्यूटी करने के लिए धोनी को सुबह चार बजे उठना पड़ेगा। उन्हें बंकर में बिना पलक झपके खड़े रहना पड़ सकता है। चुपचाप खड़े रहना और बिना हिले लगातार लोगों को आते-जाते देखते रहना पोस्ट ड्यूटी का सबसे अहम काम है।

COMMENT