महाराष्ट्र : मालगाड़ी की चपेट में आने से 16 मजदूरों की मौत,पीएम ने किया दुख व्यक्त

Views : 3329  |  3 minutes read

लॉकडाउन में फंसे होने के कारण प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने घर जा रहे हैं। इस दौरान महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले में मालगाड़ी की चपेट में आने से 16 प्रवासी मजदूरों की दर्दनाक मौत हो गई है। इस घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया है और रेल मंत्री ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं।

थकान के कारण पटरियों पर ही सो हुए थे मजदूर, कुचल कर चली गई मालगाड़ी

औरंगाबाद जिले में हुई यह दर्दनाक घटना आज शुक्रवार सुबह करीब छ बजे की है। मिली जानकारी के अनुसार ये सभी मजदूर मध्यप्रदेश के थे और औरंगाबाद से ट्रेन मिलने की आस में जालना से औरंगाबाद जा रहे थे। इस दौरान पटरियों के किनारे चलते हुए थकान होने पर पटरियों पर ही ये प्रवासी मजदूर सो गए थे तभी सुबह करीब 6 बजे मालगाड़ी ने इनको कुचल दिया।

स्टील कंपनी में काम करते थे मजदूर,  रात को ही घर के लिए निकले

जानकारी अनुसार मृतक मजदूर मध्यप्रदेश के रहने वाले थे और जालना में एक स्टील कंपनी में काम करते थे। इस घटना में घायल मजदूरों को औरंगाबाद सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। दक्षिण मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार हादसा औरंगाबाद के कर्माड के पास हुआ है। मजदूर रात को ही पैदल ही अपने घर के लिए निकल पड़े थे और करमाड तक आ गए थे और थकान के कारण पटरियों पर सो गए थे।

Read More: गैस लीक : जांच के लिए समिति, मृतक के परिजनों को 1 करोड़ रुपये का मुआवजा

रेल मंत्रालय ने जांच के दिए आदेश, पीएम ने किया दुख व्यक्त

इस घटना पर रेल मंत्रालय ने जांच के तुरंत आदेश दिए हैं। रेल मंत्रालय का यह भी बयान आया है कि आज सुबह ट्रैक पर मजदूरों को देख लोको पायलट ने मालगाड़ी को रोकने की कोशिश की मगर परभणी-मनमाड सेक्शन के बदनपुर व कर्माड स्टेशनों के बीच मजदूरों को टक्कर लग गई। दूसरी तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस घटना पर दुख जताया है और ट्वीट कर कहा है कि इस हादसे में जानमाल के नुकसान से बेहद दुखी हूं और इस मामले में रेल मंत्री पीयूष गोयल से बात की है वह स्थिति पर करीब से नजर रख हुए हैं। इधर मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भी इस घटना पर शोक व्यक्त किया है और मृतकों के परिजनों को मुआवजा देने की घोषणा की है।

COMMENT