देश के अगले सेना उप प्रमुख होंगे लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे, एक फरवरी को संभालेंगे पद

Views : 957  |  3 minutes read
Lt-General-Manoj-Pande

केंद्र सरकार ने पूर्वी सेना की कमान संभाल रहे लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे को देश का अगला उप सेना प्रमुख (Deputy Army Chief) बनाने का फैसला किया है। जनरल पांडे के इस पद पर नियुक्ति के प्रस्ताव को केंद्र सरकार की मंजूरी मिल चुकी है। जानकारी के अनुसार, लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे (Lt. Gen. Manoj Pandey) बतौर उप सेना प्रमुख एक फरवरी को पदभार संभालेंगे। वे लेफ्टिनेंट जनरल सीपी मोहंती की जगह लेंगे। आपको बता दें कि जनरल मोहंती 31 जनवरी, 2022 को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

कौन हैं लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे?

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे का जन्म नागपुर में परामर्श मनोचिकित्सक डॉ. सी जी पांडे के घर में हुआ। इनके पिता नागपुर यूनिवर्सिटी में विभाग प्रमुख के पद से सेवानिवृत हुए थे। वहीं, इनकी मां प्रेमा पांडे ऑल इंडिया रेडियो में अनाउंसर थीं। अपनी स्कूल की पढ़ाई करने के बाद इन्होंने एनडीए ज्वॉइन किया। लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे को दिसंबर 1982 में कोर आफ इंजीनियर्स (द बॉम्बे सैपर्स) में नियुक्ति मिली थी।

वे स्टाफ कालेज, केंबरली (ब्रिटेन) से ग्रेजुएट हैं। उन्होंने आर्मी वॉर कालेज महू और दिल्ली में नेशनल डिफेंस कालेज (एनडीसी) में हायर कमांड कोर्स में हिस्सा लिया था। देश के लिए अपनी 37 वर्षों की विशिष्ट सेवा के दौरान पांडे ने ऑपरेशन विजय और ऑपरेशन पराक्रम में सक्रिय रूप से भाग लिया है। लेफ्टिनेंट जनरल पांडे ने 3 मई 1987 को अर्चना सालपेकर से शादी की, जो गवर्नमेंट डेंटल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, नागपुर से गोल्ड मेडलिस्ट हैं।

अंडमान एवं निकोबार कमान के कमांडर-इन-चीफ रहे

लेफ्टिनेंट जनरल मनोज पांडे ने 1 जून को पूर्वी सेना कमान के नए कमांडर (जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ) के रूप में कार्यभार संभाला था। यह कमान पूर्वोत्तर राज्यों सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश क्षेत्रों में चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) की रक्षा के लिए तैनात है। इसका मुख्यालय कोलकाता में है। लेफ्टिनेंट जनरल पांडे पूर्वी कमान के प्रमुख बनने से पहले अंडमान एवं निकोबार कमान के कमांडर-इन-चीफ रहे थे।

इसरो के नए अध्यक्ष होंगे वरिष्ठ वैज्ञानिक एस सोमनाथ, लॉन्च व्हीकल प्रणालियों के हैं विशेषज्ञ

COMMENT