अपनी लाइफ स्टाइल में इन बातों का ध्यान रख अस्थमा से रहें दूर

Views : 2289  |  3 minutes read

आज के समय में अस्थमा एक आम बीमारी बनती जा रही है। अस्थमा के कारण सांस लेने में ​बहुत दिक्क्तें आती हैं और ध्यान व उचित इलाज नहीं लेने पर यह बीमारी जानलेवा भी बन जाती है। जानिये, किस तरह ​लाइफ स्टाइल में बदलाव व ध्यान देकर इससे दूर रहा जाए।

जानें, क्या है अस्थमा

अस्थमा अर्थात् दमा एक ऐसी बीमारी है जिसमें पीडित व्यक्ति की सांस नलियों में सूजन आ जाती है और इस वजह से सांस लेने में दिक्कत होती है। अगर इस बीमारी का समय पर सही इलाज नहीं किया जाए तो बाद में यह जानलेवा बन जाती है।

इन वजहों से होता है

अस्थमा बीमारी होने का प्रमुख कारण धूल, धुआं होती है। इसके अलावा वर्तमान जीवन शैली में खान-पान का ध्यान नहीं रखने, तनाव, पालतू जानवर, परफ्यूम का ज्यादा उपयोग करने से भी अस्थमा की शिकायत हो जाती है।

इस तरह दिनचर्या में करें बदलाव

अस्थमा भविष्य में जाकर गंभीर रूप धारण नहीं करें उससे पहले इसका इलाज बहुत जरूरी है। इसके लिए आपको अपनी दैनिक दिनचर्या में आवश्यक बदलाव करने चाहिए।

  • दमा से बचाव के लिए सबसे पहले अपने खान-पान में परिवर्तन करना चाहिए और फास्ट फूड आदि से दूर रहना चाहिए।
  • भोजन में प्रोटीन पदार्थ, फल,सब्जियों आदि को आवश्यक रूप से शामिल करें।
  • मोटापे की वजह से इस बीमारी की शिकायत होती है इसलिए अपने वजन पर भी नियंत्रण भी रखना चाहिए।
  • जब भी घर से बाहर जाएं तो अपने मुंह पर कपड़ा या रूमाल बांध लेना चाहिए जिससे धूल-मिट्टी से बचाव रहें।
  • अस्थमा से पीडित मरीज को समय पर अपना रूटीन चेकअप भी करवाते रहना चाहिए।
  • चिकित्सक की सलाह लेकर हल्का व्यायाम भी कर सकते हैं जिससे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहे और सेहत में चुस्ती फुर्ती रहे।

इनहेलर का उपयोग

अस्थमा के इलाज में सर्वश्रेष्ठ व सुरक्षित उपचार इनहेलर द्वारा होता है। इसके माध्यम से दवाई इंसान के फेफड़ों तक सीधी पहुंचती है और असर दिखाती है।

Read More: जानिये, पानी पीने का सही समय व तरीका जिससे नहीं पड़ेंगे बीमार

COMMENT