सचिन तेंदुलकर के विदाई टेस्ट में ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे इस गेंदबाज ने लिया संन्यास

Views : 1269  |  3 minutes read
Sachin-Tendulkar-and-Pragyan-Ojha

करीब 5 साल तक भारत की सीनियर टीम का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में प्रति​निधित्व करने वाले स्पिन गेंदबाज प्रज्ञान ओझा ने क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। उन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट और प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया। 33 वर्षीय ओझा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इस बात की खुद पुष्टि की है। मूल रूप से ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर के रहने वाले प्रज्ञान ओझा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर दो पेजों का पत्र लिखा है, जिसमें अपनी टीम के पूर्व कप्तान और साथियों का धन्यवाद भी जताया है।

Pragyan-Ojha

जीवन के अगले पड़ाव पर बढ़ने का समय

क्रिकेटर प्रज्ञान ओझा ने लेटर के कैप्शन में लिखा, ‘अब जीवन के अगले पड़ाव के लिए आगे बढ़ने का समय आ गया है। मेरे पूरे कॅरियर के दौरान प्यार और समर्थन देने वाला हर एक शख्स मुझे हमेशा याद रहेगा और मुझे इससे हमेशा मोटिवेशन मिलेगा।’ एक दिलचस्प बात यह है कि महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का विदाई टेस्ट प्रज्ञान ओझा का भी आखिरी टेस्ट मैच साबित हुआ। इसके बाद उन्हें टीम इंडिया के लिए दोबारा खेलने का मौका नहीं मिला। अपने अंतिम टेस्ट में ओझा कुल 10 विकेट (5/40, 5/49) लेकर ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे थे। ओझा की शानदार स्पिन गेंदबाजी की बदौलत मास्टर ब्लास्टर तेंदुलकर के उस आखिरी और विदाई मैच को भारत ने वेस्टइंडीज पर पारी और 126 रनों से जीत के साथ अपने नाम किया था।

Pragyan-Ojha-

ऐसा रहा प्रज्ञान ओझा का क्रिकेट कॅरियर

धीमी गति वाले बांए हाथ के ऑर्थोडॉक्स स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने वर्ष 2008 में भारत के लिए वनडे टीम में डेब्यू किया था। इसके बाद उन्होंने टी-20 इंटरनेशनल और टेस्ट टीम में भी जगह बनाई। ओझा ने साल 2008 से 2013 तक यानि पांच साल तक भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया। इस दौरान उन्होंने टीम इंडिया के लिए 24 टेस्ट, 18 वनडे और 6 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले। प्रज्ञान ओझा ने 24 टेस्ट मैचों में 113 विकेट अपने नाम किए हैं, जिसमें 7 बार पांच विकेट और एक बार 10 विकेट उन्होंने एक मैच में चटकाए हैं।

Read More: इंस्टाग्राम पर सबसे ज्यादा फॉलोअर्स वाले भारतीय बने विराट कोहली

इसके अलावा उन्होंने 18 एकदिवसीय मैचों में 21 विकेट लिए हैं। वहीं, अगर टी-20 अंतरराष्ट्रीय की बात करें तो प्रज्ञान ओझा ने 6 मैचों में 10 विकेट अपने नाम किए हैं। बतौर बल्लेबाज उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 89 रन, वनडे में 46 और टी-20 में 10 रन बनाए हैं। वे 92 आईपीएल मैचों में 89 विकेट भी ले चुके हैं। ओझा को पिछले 7 साल से टीम इंडिया में जगह नहीं मिल रही थी। ऐसे में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहना ही उचित समझा। अब वे क्रिकेट कोचिंग के साथ-साथ कॉमेंट्री में भी हाथ आजमाते नज़र आ सकते हैं।

Pragyan-Ojha-with-Wife

13 साल की उम्र में शिफ्ट होना पड़ा हैदराबाद

क्रिकेटर प्रज्ञान ओझा की निजी ज़िंदगी के बारे में बात करें तो उनका जन्म 5 सितंबर, 1986 को भुवनेश्वर में हुआ। 13 साल की उम्र में वे हैदराबाद आ गए थे और तब से परिवार के साथ वहीं रह रहे हैं। ओझा के पिता महेश्वर ओझा राज्य सरकार से रिटायर्ड अफसर हैं और उनकी मां बिदुलता लिटरेचर में मास्टर्स डिग्री पास है। 16 मई, 2010 को प्रझान ओझा ने कराबी कैलाश से शादी की, जो कि हैदराबाद यूनिवर्सिटी से बायोकेमिस्ट्री में पीएच.डी कर रही थीं। इन दोनों का एक बेटा योहान युगांत ओझा है, जिसका जन्म सितंबर 2019 में हुआ। कराबी के पिता कैलाश चंद्र बराल और उसकी मां चंचला नायक दोनों ही यूनिवर्सिटी में क्रमश अंग्रेजी और विदेशी भाषा के प्रोफेसर हैं।

 

COMMENT