किसान आंदोलन को लेकर अक्षय कुमार, तेंदुलकर जैसे सितारों के ट्वीट की जांच कराएगी महाराष्ट्र सरकार

Views : 862  |  3 minutes read
Stars-Tweets-Investigate

महाराष्ट्र सरकार किसान आंदोलन को लेकर कई भारतीय सितारों द्वारा विदेशी हस्तियों को दखल न देने के संबंध में किए गए ट्वीट की जांच कराने जा रही है। महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि प्रदेश के कांग्रेस नेताओं की ओर से इस मुद्दे की जांच के आग्रह आए हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिकी पॉप सिंगर रिहाना के ट्वीट के बाद अक्षय कुमार, सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली सहित अन्य सितारों ने जो ट्वीट किया हैं, उसमें पैटर्न हैं और कई शब्द एक जैसे ही हैं। खासकर, अक्षय कुमार और सायना नेहवाल का ट्वीट एक जैसा हैं। इन सभी के ट्वीट का समय भी कई सवाल खड़े कर रहा है। इसलिए इसकी जांच की जाएगी। इंटेलिजेंस विभाग इसकी जांच करेगा।

कांग्रेस की शिकायत पर जांच करवाने की तैयारी

महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार में साझेदार कांग्रेस ने गृहमंत्री देशमुख से अपनी शिकायत में कहा है कि रिहाना के ट्वीट के बाद सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली समेत बड़े सितारों ने जो ट्वीट किए हैं। उनमें कई शब्द कॉमन है जैसे अमिकेबल। अभिनेता सुनील शेट्टी ने तो अपने ट्वीट में मुंबई बीजेपी नेता हितेश जैन को टैग किया था। वहीं, सायना नेहवाल और अक्षय कुमार का ट्वीट एक जैसा नजर आता है। इन सभी ट्वीट की टाइमिंग और पैटर्न को देख कर लग रहा है कि बीजेपी सरकार के दबाव में इन सितारों ने ट्वीट किए होंगे। वहीं, इस मामले में कांग्रेस प्रवक्ता सचिन सावंत ने कहा है कि तेंदुलकर, लता मंगेशकर सहित इन सभी सितारों ने किसानों की मौत पर कुछ भी नहीं कहा। इतने दिनों तक यह सभी खामोश रहे, लेकिन अचानक सब ट्वीट करने लगे हैं।

रिहाना, थनबर्ग और मिया खलीफा ने समर्थन में किया था ट्वीट

जानकारी के लिए बता दें कि हाल में पॉप सिंगर रिहाना, स्वीडन की पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग और पूर्व पॉर्न स्टार मिया खलीफा ने किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किए थे, जिसके बाद अभिनेता अक्षय कुमार, सुनील शेट्टी, लता मंगेशकर, सचिन तेंदुलकर, विराट कोहली, सायना नेहवाल समेत कई भारतीय हस्तियों ने ट्वीट्स किए थे। इसमें उन्होंने इसे एक विदेशी प्रोपेगैंडा बताया था और लोगों से इसमें ना फंसने की अपील भी की थी। इसके साथ ही इंडिया टुगैदर और इंडिया अगेंस्ट प्रोपेगैंडा हैशटैग भी चलाया गया था।

Read More: भारत के ऋषभ पंत बने आईसीसी के पहले ‘महीने के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी’

COMMENT