भारत की चीन पर एक और डिजिटल स्ट्राइक, इस बार 47 चाइनीज एप्स पर लगाया प्रतिबंध

Views : 711  |  3 minutes read
India-Banned-Chinese-Apps

चीन से वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी एलएसी पर चल रहे तनाव के बीच भारत सरकार ने एक बार फिर बड़ा फैसला लिया है। मोदी सरकार ने 59 चाइनीज एप्स पर प्रतिबंध लगाने के बाद अब चीन पर एक और डिजिटल स्ट्राइक करते हुए 47 चाइनीज एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है। जानकारी के अनुसार, ये सभी 47 एप्स पहले बैन किए गए 59 एप्स के क्लोन और लाइट वर्जन हैं। हालांकि, बैन किए गए इन 47 एप्स के नाम अभी सामने नहीं आए हैं। वहीं, इन चाइनीज एप्स पर प्रतिबंध को लेकर केंद्र सरकार की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक बयान भी जारी नहीं किया गया है।

भारत सरकार ने इन चाइनीज एप्स को किया बैन

भारत सरकार द्वारा इस बार प्रतिबंधित किए गए एप्स में से कुछेक के नाम सामने आए हैं। इनमें टिकटॉक​ लाइट, हेलो लाइट, शेयरइट लाइट, बिगो लाइव लाइट और वीएफवाई लाइट आदि शामिल हैं। ऐसे में भारत सरकार ने अब तक कुल 106 चाइनीज एप्स को भारत में प्रतिबंधित कर दिया है।

वही, यह भी ख़बर आ रही है कि मोदी सरकार ने 275 चीनी मोबाइल एप्स एक की लिस्ट तैयार कर ली है, जिन पर आने वाले समय में बैन लगाया जा सकता है। इस लिस्ट में पबजी और जिली जैसे बेहद पॉपुलर एप्स भी शामिल हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, केंद्र सरकार इन मोबाइल एप्स की जांच कर पहले यह पता लगाएगी कि कहीं ये प्राइवेसी के नियमों का उल्लंघन तो नहीं कर रहे हैं।

Read More: एपल के आईफोन की मैन्युफैक्चरर कंपनी फॉक्सकॉन भारत में करेगी निवेश

चीनी इंटरनेट कंपनियों पर भी लग सकता है प्रतिबंध

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भारत सरकार 275 चीनी मोबाइल एप्स की एक लिस्ट तैयार की है और इनकी फिलहाल जांच की जा रही है। इन एप्स की लिस्ट में पबजी गेम, जिली, कैपकट, फेसयू, मेइतू (Meitu), एलबीई टेक, परफेक्ट कॉर्प, सीना कॉर्प, नेटीज गेम्स, अली एक्सप्रेस, रेसो और यूलाइक जैसे एप्स शामिल हैं। बता दें कि इसके अलावा कई चीनी इंटरनेट कंपनियों पर भी भारत में प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

COMMENT