पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से तीन कोरोना जांच लैब का किया उद्घाटन

Views : 707  |  3 minutes read
corona-test-labs-inaugurates

देश इन दिनों वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से एक मोर्चे पर जंग लड़ रहा है। वहीं, दूसरी ओर इस महामारी से लड़ाई को जीतने के लिए स्वास्थ्य सेवाओं के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की दिशा में लगातार प्रयासरत है। इसी के तहत सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 की जांच के लिए देश के तीन अलग-अलग शहरों में हाई थ्रूपुट लैब का उद्धाटन किया। ये कोरोना जांच लैब नोएडा, मुंबई और कोलकाता में ​शुरू की गई हैं। पीएम मोदी ने इन लैब्स का उद्धाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया। इन लैब की प्रतिदिन 10 हजार से ज्यादा सैंपल जांच की क्षमता होगी।

संक्रमण की पहचान और इलाज सही समय पर हो सकेगा

भारत में इन तीन कोरोना जांच लैब से संक्रमण की जांच क्षमता को बढ़ाने में मदद मिलेगी, जिससे कोरोना संक्रमण की समय पर पहचान और इलाज संभव हो सकेगा। बता दें कि इन लैब का निर्माण भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानी आईसीएमआर ने किया है। ये तीन जांच लैब आईसीएमआर-नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कॉलरा एंड एंटेरिक डिसीज कोलकाता, आईसीएमआर-नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कैंसर प्रिवेंशन एंड रिसर्च नोएडा और आईसीएमआर-नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर रिसर्च इन रिप्रोडक्टिव हेल्थ मुंबई में बनाई गई है।

लैब का अन्य बीमारियों की जांच में भी हो सकेगा इस्तेमाल

इन आधुनिक लैब में कोरोना संक्रमण की जांच में समय भी कम लगेगा और लैब में काम करने वाले कर्मियों को भी संक्रमण वाले पदार्थों के ज्यादा संपर्क में नहीं रहना होगा। लैब में कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों की जांच भी की जा सकेगी। कोरोना वायरस महामारी के दौर के बाद इन कोरोना जांच लैब्स को एचआईवी, क्लेमेडिया, डेंगी, साइटोमेगालोवायरस, हेपेटाइटिस बी और सी, माइकोबैक्टीरियम ट्यूबरकुलोसिस और नेसीरिया जैसी बीमारियों की जांच में भी इस्तेमाल किया जा सकेगा।

भारत: 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 50 हजार नए मामले, संक्रमितों की संख्या 14 लाख के पार

लैब उद्धाटन के डिजिटल कार्यक्रम में ये भी रहे मौजूद

देश में तीन कोरोना जांच लैब के उद्धाटन के डिजिटल कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन समेत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद रहे। पीएमओ यानी प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, देश में ये तीन नई लैब कोरोना वायरस संक्रमण जांच की रफ्तार तेज करेंगी। इससे समय पर इलाज शुरू करने में मदद मिलेगी और इस तरह संक्रमण पर काबू किया जा सकेगा।

COMMENT