भारतीय ऑलराउंडर यूसुफ पठान ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से लिया संन्यास

Views : 2380  |  3 minutes read
Yusuf-Pathan-Retirement

भारतीय क्रिकेट टीम के हरफनमौला खिलाड़ी यूसुफ पठान ने क्रिकेट के सभी प्रारूप से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने शुक्रवार को ट्वीट कर अपने संन्यास लेने के फैसले के बारे में जानकारी दी। आपको बता दें कि सीनियर पठान वर्ष 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप और साल 2011 में 50 ओवर के फॉर्मेट में वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम इंडिया का अहम हिस्सा रहे थे। उन्होंने कई पारी देश के लिए उम्दा पारी खेलकर टीम की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। हालांकि, उनका कॅरियर लम्बा नहीं चल सका। यूसुफ टीम इंडिया का प्रतिनिधित्व कर चुके इरफान पठान के बड़े भाई भी हैं।

आज मेरे कॅरियर पर पूर्ण विराम लग रहा है: यूसुफ

यूसुफ पठान ने ट्वीट में लिखा, ‘मुझे याद है जिस दिन मैंने पहली बार भारत की जर्सी पहनी थी। मैंने ही सिर्फ वो जर्सी नहीं पहनी थी, वो जर्सी मेरे परिवार, कोच, दोस्त और पूरे देश ने पहनी थी। मेरा बचपन, जिंदगी क्रिकेट के ही इर्द-गिर्द बीता और मैं अंतर्राष्ट्रीय, घरेलू और आईपीएल क्रिकेट खेला। लेकिन आज कुछ अलग है।’ उन्होंने आगे लिखा, ‘आज कोई वर्ल्ड कप या आईपीएल फाइनल नहीं है, लेकिन ये उतना ही अहम दिन है। आज क्रिकेटर के रूप में मेरे कॅरियर पर पूर्ण विराम लग रहा है। मैं आधिकारिक तौर पर संन्यास का ऐलान करता हूं।’

ऐसा रहा सीनियर पठान का अंतरराष्ट्रीय कॅरियर

यूसुफ ने वर्ष 2007 के टी-20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच में डेब्यू किया था। साल 2012 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेला गया मुकाबला उनके टी-20 कॅरियर का आखिरी मैच था। वहीं, वर्ष 2008 में उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ मैच से अपने वनडे कॅरियर का आगाज किया था। यूसुफ ने भारत के लिए आखिरी वनडे साल 2012 में खेला था। यूसुफ पठान की पहचान एक विस्फोटक बल्लेबाज के तौर पर रही।

Read More: श्रीलंकाई ओपनर उपुल थरंगा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया रिटायरमेंट

बता दें कि यूसुफ पठान ने भारत के लिए 57 वनडे मैचों में 27 की औसत से 810 रन बनाए। वहीं, 22 टी-20 मैचों में 236 रन अपने नाम किए। उन्होंने वनडे में 2 शतक और 3 अर्धशतक भी लगाए। इसके अलावा यूसुफ ने वनडे में 33 और टी-20 में 13 विकेट भी अपने खाते में दर्ज करवाए। आईपीएल की बात करें तो यूसुफ ने साल 2010 में मुंबई इंडियंस के खिलाफ महज 37 गेंदों पर तूफानी शतक जड़ दिया था। यह आईपीएल इतिहास का दूसरा सबसे तेज शतक भी है। आईपीएल में यूसुफ ने राजस्थान, कोलकाता नाइटराइडर्स और सनराइजर्स हैदराबाद का प्रतिनिधित्व किया है।

COMMENT