अगस्त 2021 में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अध्यक्ष बनेगा भारत

Views : 1023  |  3 minutes read
India-President-of-UNSC

हाल में भारत को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद यानी यूएनएससी के अस्थायी सदस्य के तौर पर आठवीं बार चुना गया। इसके बाद अब एक और खुशख़बरी आई है कि भारत अगस्त 2021 में 15 देशों वाली शक्तिशाली संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी निभाएगा। आपको बता दें कि यूएनएससी का हर सदस्य देश बारी-बारी से एक माह के लिए परिषद की अध्यक्षता करता है। संयुक्त राष्ट्र प्रवक्ता के कार्यालय से जारी सूचना के अनुसार भारत अगले साल अगस्त में परिषद की अध्यक्षता करेगा।

2022 में एक माह के लिए परिषद की अध्यक्षता करेगा भारत

अगस्त 2021 के बाद भारत साल 2022 में एक माह के लिए परिषद का अध्यक्ष बनेगा। अगले साल जनवरी में ट्यूनीशिया के हाथों में परिषद की कमान होगी। इसके बाद क्रम से ब्रिटेन, अमेरिका, वियतनाम, चीन, एस्तोनिया, फ्रांस, भारत, आयरलैंड, केन्या, मैक्सिको और नाइजर एक-एक महीने के लिए अध्यक्ष बनेंगे। उल्लेखनीय है कि भारत सुरक्षा परिषद के चुनाव में मिले जबरदस्त समर्थन की मदद से दो साल के लिए इसका अस्थायी सदस्य चुना गया है। इस अभूतपूर्व चुनाव में 192 सदस्य देशों के राजनयिकों ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के मद्देनजर सामाजिक दूरी के नियमों का कड़ाई से पालन करते हुए और मास्क पहन कर मतदान किया।

यूएनएससी अस्थायी सदस्य के चुनाव में मिले रिकॉर्ड 184 मत

बता दें कि सुरक्षा परिषद की पांच अस्थायी सीटों के लिए हुए चुनाव में एशिया-प्रशांत देशों की श्रेणी से उम्मीदवार भारत को 192 मतों में से 184 मत मिले। सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर भारत का दो वर्ष का कार्यकाल एक जनवरी 2021 से शुरू होगा। भारत के अलावा आयरलैंड, मैक्सिको, केन्या और नॉर्वे ने भी यूएनएससी का चुनाव जीता। भारत सुरक्षा परिषद में नॉर्वे, केन्या, आयरलैंड और मैक्सिको के अलावा पांच स्थायी सदस्यों चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका तथा अस्थायी सदस्यों एस्तोनिया, नाइजर, सेंट विंसेंट, ट्यूनीशिया और वियतनाम के साथ बैठेगा।

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों ने 32 घंटे में मार गिराए आठ आतंकी, इस साल अब तक 100 का सफाया

वहीं, बेल्जियम, डोमिनिकन गणराज्य, जर्मनी, इंडोनेशिया और दक्षिण अफ्रीका का कार्यकाल इस साल समाप्त होने जा रहा है। भारत इससे पहले वर्ष 1950-1951, 1967-1968, 1972-1973, 1977-1978, 1984-1985, 1991-1992 और 2011-2012 में परिषद का अस्थायी सदस्य रह चुका है।

COMMENT