भारत: 24 घंटे में कोरोना के पहली बार रिकॉर्ड चार लाख से अधिक मरीज हुए ठीक

Views : 802  |  3 minutes read
Corona-Infection-Rate-India

देश में कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के प्रकोप के बीच मंगलवार को एक राहत की खबर सामने आई। दरअसल, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारत में महामारी की स्थिति को लेकर एक प्रेसवार्ता की। इस दौरान स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश के आठ राज्यों में एक लाख से ज्यादा संक्रमण के मामले हैं। 10 राज्यों में कोरोना के मामले 50 हजार से एक लाख के बीच हैं और 18 राज्य ऐसे हैं जहां सक्रिय मामलों की संख्या 50 हजार से कम है।

उन्होंने कहा कि तीन मई को कोरोना से ठीक होने की दर 81.7 फीसदी थी जो अब बढ़कर 85.6 फीसदी हो गई है। देश में पिछले 24 घंटों में चार लाख 22 हजार 436 मरीज ठीक हुए हैं, जो कि एक दिन में अब तक का सबसे ऊंचा आंकड़ा है। अग्रवाल ने बताया कि मंगलवार को यहां केस पॉजिटिविटी दर 14.10 फीसदी है।

कुल आबादी का 1.8 फीसदी हिस्सा हो चुका कोरोना वायरस

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश में 199 जिले ऐसे हैं, जहां पिछले तीन सप्ताह से नए मामलों और पॉजिटिविटी में लगातार कमी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि अभी तक देश की कुल आबादी का 1.8 फीसदी हिस्सा कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित हो चुका है। हम संक्रमण के प्रसार को दो फीसदी आबादी के अंदर-अंदर रोकने में सफल हुए हैं। अग्रवाल ने कहा कि पिछले 24 घंटों के दौरान पूरे देश में कोरोना के दो लाख 63 हजार से कुछ ज्यादा नए मामले दर्ज किए गए हैं। उन्होंने बताया कि 7 मई को देश में एक दिन में रिकॉर्ड चार लाख 14 हजार मामले सामने आए थे। उसके मुकाबले आज की तारीख में कोरोना के मामलो में 27 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

डीआरडीओ की दवा को इलाज प्रोटोकॉल में शामिल होगी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेसवार्ता में मौजूद रहे नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) डॉ. वीके पॉल ने हाल में ही डीआरडीओ द्वारा विकसित की गई कोरोना रोधी दवा 2-डीजी पर भी बात की। डॉ. पॉल ने कहा कि हम इस दवा को इलाज प्रोटोकॉल में शामिल करने के लिए कोविड-19 नेशनल टास्क फोर्स में इसका परीक्षण करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि भारत के औषधि महानियंत्रक यानि डीसीजीआई ने 2-डीजी कोविड रोधी दवा के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी पहले ही दे दी है।

Read: कोरोना मरीजों का अब प्लाज्मा थेरेपी से नहीं होगा इलाज, ICMR ने जारी की नई गाइडलाइन

COMMENT