आईसीसी ने अंपायर डेवलपमेंट पैनल में इन दो भारतीय महिलाओं को किया शामिल

Views : 1191  |  3 minutes read
vrinda-rathi- and-janani-narayanan

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी ने अपने अंपायर डेवलपमेंट पैनल में दो भारतीय महिलाओं को शामिल किया है। भारत की दो महिला अंपायर जनानी नारायणन और वृंदा राठी को बुधवार को अंपायर डेवलपमेंट पैनल के लिए चुना गया। पैनल में 2 नए अंपायरों को शामिल करने पर अब आईसीसी के महिला अंपायर्स की संख्या 10 से बढ़कर 12 हो गई है। भारत की ये दोनों ही महिला अंपायर्स पिछले कुछ वर्षों से घरेलू क्रिकेट में सक्रिय रहते हुए अंपायरिंग कर रही हैं।

ICC-Umpire-Development-Panel

डेवलपमेंट पैनल में नाम होना गर्व की बात

34 वर्षीय भारतीय महिला क्रिकेट अंपायर जनानी नारायणन ने आईसीसी द्वारा पैनल में शामिल किए जाने के बाद कहा, ‘यह जानकर बहुत अच्छा लगता है कि वृंदा और मुझे आईसीसी के डेवलपमेंट पैनल में शामिल किया गया है। यह मुझे मैदान पर सीनियर्स से सीखने और आने वाले वर्षों में खुद में बहुत से सुधार करने का अवसर देता है। उन्होंने कहा कि 90 के दशक के बाद से ही क्रिकेट मेरी दिनचर्या का हिस्सा बन गया। मैं हमेशा से ही उच्च स्तर पर इस खेल के साथ जुड़ा रहना चाहती हूं।’ आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जनानी नारायणन वर्ष 2018 से घरेलू टूर्नामेंटों में अंपायरिंग कर रही हैं।

वहीं, आईसीसी के अंपायर डवलपमेंट पैनल में शामिल की गई दूसरी भारतीय अंपायर वृंदा राठी ने कहा, ‘मुझे लगता है कि आईसीसी के डेवलपमेंट पैनल में मेरा नाम होना मेरे लिए गर्व की बात है, क्योंकि इससे मेरे लिए नए रास्ते खुल गए हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि इस सफ़र में पैनल के अन्य सदस्यों से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।’

Read More: ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल ने भारतीय लड़की से की सगाई, देखें वायरल तस्वीरें

राठी ने आगे कहा, ‘मैंने क्रिकेट खेला और स्कोरर के रूप में भी काम किया है। यह मेरे लिए एक स्वाभाविक प्रगति थी। जिस तरह से चीजें सामने आई हैं उससे मैं बहुत ही खुश हूं।’ बता दें कि 31 साल की वृंदा राठी ने अपने कॅरियर की शुरुआत एक स्कोरर के रूप में की थी और बाद में वह अंपायर बन गई। वृंदा राठी भी साल 2018 के बाद से ही घरेलू टूर्नामेंटों में अंपायरिंग कर रही है।

COMMENT