‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ से 116 जिलों के श्रमिकों को पहुंचेगा लाभ: वित्त मंत्री सीतारमण

Views : 2346  |  3 minutes read
Garib-Kalyan-Rojgar-Abhiyan

देश में जल्द ही लॉन्च होने वाले ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ से 116 जिलों के श्रमिकों को लाभ पहुंचाया जाएगा। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 जून को इस अभियान का शुभारंभ करेंगे। उन्होंने कहा कि इस रोजगार अभियान की पहली प्राथमिकता अपने संबंधित जिलों में लौटे मजदूरों की तत्काल जरूरत को पूरा करना और उन्हें जल्द-जल्द आजीविका का साधन मुहैया कराना है।

मुख्यत: छह राज्यों के 116 जिलों में श्रमिकों को मिलेगा रोजगार

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि देश भर के श्रमिक कोरोना वायरस महामारी के कारण लागू किए गए लॉकडाउन के शुरू होने के बाद अपने घर वापस जाना चाहते थे और केंद्र व राज्य सरकारों ने इसकी व्यवस्था की। हमने पाया है कि लॉकडाउन के दौरान घर वापस लौटने वाले श्रमिक मुख्यत: छह राज्यों के 116 जिलों से थे। इन राज्यों में बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, ओडिशा और राजस्थान शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि 125 दिन के भीतर इन 116 जिलों के लिए सरकार की करीब 25 योजनाओं को गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत लाने की तैयारी पूरी कर ली गई है। केंद्रीय वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि इन 125 दिनों में हम हर योजना को उसके उच्चतम स्तर पर लेकर जाएंगे। केंद्र सरकार का यह अभियान ग्रामीण भारत में रोजगार के नए अवसर पैदा करेगा।

Read More: भारत 8वीं बार यूएनएससी का अस्थायी सदस्य बना, पीएम मोदी ने जताई खुशी

आपको जानकारी के लिए बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 जून को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम में इस अभियान की शुरुआत करेंगे। यह अभियान ग्रामीण विकास, पंचायती राज, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, खान, पेयजल और स्वच्छता, पर्यावरण, रेलवे, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, नवीकरणीय ऊर्जा, सड़क, दूरसंचार और कृषि का एक सामूहिक प्रयास होगा। वित्त मंत्री सीता सीतारमण ने कहा कि घर वापस लौटे श्रमिकों का उपयोग करते हुए इन 25 अलग-अलग कामों के अंदर जो भी लक्ष्य हासिल करना है, उसे हासिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन 25 योजनाओं को मिलाकर करीब 50,000 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

COMMENT