नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के हीरे, मोती और जवाहरात हांगकांग से वापस लाई ईडी

Views : 1387  |  3 minutes read
Nirav-Modi-and-Mehul-Choksi

बैंक को हजारों करोड़ का चुना लगाकार भागे भगौड़े नीरव मोदी और मेहुल चोकसी से वसूली मामले में प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी को बड़ी कामयाबी मिली है। ईडी बुधवार को हांगकांग से हीरे, मोती और जवाहरात वापस लाई है, जिसकी कीमत करीब 1350 करोड़ रुपए है।

बता दें, ये हीरे-जवाहरात नीरव और चोकसी की फर्म से जुड़े हैं। यह बेशकीमती ज्वैलरी हांगकांग की एक कंपनी के गोदाम में रखी हुई थी। इनमें पोलिश किए हुए हीरे, मोती, चांदी के गहने आदि शामिल हैं। इसका वजन करीब 2340 किलोग्राम है और ईडी इस सामान को वापस मुंबई लेकर आई है।

दो अरब डॉलर के कर्ज की धोखाधड़ी के आरोपी है नीरव

आपको बता दें कि इससे पहले पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के मुंबई की विशेष अदालत ने बड़ा झटका दिया था। कोर्ट ने नीरव की सभी संपत्तियों को ‘आर्थिक अपराधी भगोड़ा कानून’ के तहत जब्त करने का आदेश दे दिया था। पीएमएलए कोर्ट के नीरव की सभी संपत्तियों को जब्त करने के आदेश के बाद उसकी सभी संपत्तियां अब भारत सरकार के अधिकार क्षेत्र में आ गई।

पीएम केयर्स फंड को सार्वजनिक प्राधिकरण घोषित करने की मांग पर पीएमओ ने जताई आपत्ति

उल्लेखनीय है कि प्रवर्तन निदेशालय पहले भी नीरव मोदी की संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई कर चुका है। इसी साल मार्च में हुई उसकी संपत्तियों की नीलामी से 51 करोड़ रुपए मिले थे। नीरव भारत में पंजाब नेशनल बैंक से दो अरब डॉलर के कर्ज की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में मुख्य आरोपी है। वह ब्रि​टेन में रहकर लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत में अपने भारत प्रत्यर्पण के ख़िलाफ़ केस लड़ रहा है। दो देशों के आपसी समझौते के मुताबिक ब्रिटेन उसे जल्द ही भारत को सौंप सकता है।

COMMENT