डोनाल्ड ट्रंप का नाम अगले साल के ‘नोबेल शांति पुरस्कार’ के लिए नामित

Views : 667  |  3 minutes read
USA-President-Trump

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का नाम अगले साल यानी 2021 के ‘नोबेल शांति पुरस्कार’ के लिए नामित किया गया है। दरअसल, नॉर्वे के प्रोग्रेस पार्टी से सांसद और नाटो संसदीय सभा के चेयरमैन क्रिश्चियन टाइब्रिंग गजेड ने ट्रंप को इस प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए नामित किया है। उन्होंने यह इजरायल और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच शांति समझौते में ट्रंप की अहम भूमिका को देखते हुए किया। आपको बता दें कि टाइब्रिंग ने साल 2018 में भी डोनाल्ड ट्रंप को इस पुरस्कार के लिए नामित किया था।

ट्रंप ने कई देशों के बीच शांति में अहम भूमिका निभाई

क्रिश्चियन टाइब्रिंग गजेड ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इजरायल और यूएई के बीच ही समझौता नहीं कराया है, बल्कि उत्तरी कोरिया और ईरान के साथ भी शांतिपूर्ण बातचीत की अपील की है, जो सराहनीय है। उन्होंने कहा कि वैश्विक शांति स्थापित करने के लिए ट्रंप से ज्यादा प्रयास इस पुरस्कार के लिए नामित किसी अन्य सदस्य ने नहीं किए हैं। जब भी किन्ही दो देशों के बीच विवाद की स्थिति बनी तो ट्रंप ने इसे सुलझाने के लिए मध्यस्थता की पेशकश की, वह अवॉर्ड के असली हकदार हैं।

गजेड ने ट्रंप के नामांकन के लिए लिखे गए अपने पत्र में लिखा कि वह इस पुरस्कार की तीनों पात्रताएं पूरी करते हैं। उन्होंने अन्य देशों के साथ किसी तरह के सशस्त्र संघर्ष को बढ़ावा नहीं दिया और न ही युद्ध की पहल की। उन्होंने बातचीत के जरिए समझौते किए। ट्रंप ने मध्य पूर्व के देशों में नाटो और अमेरिकी सैनिकों की संख्या कम की है। 39 साल से अमेरिका के राष्ट्रपति या तो अमेरिका को युद्ध की स्थिति में ले जा रहे थे या अमेरिका को अंतर्राष्ट्रीय सशस्त्र विवाद में उलझा रहे थे। ट्रंप ने इसे समाप्त किया है।

हर साल फरवरी और मार्च में होता है नामांकनों का चयन

आपको बता दें कि नोबेल शांति पुरस्कार के लिए किसी को नामित करने के लिए योग्य व्यक्ति लोकप्रिय हस्ती, राष्ट्रीय नेता, प्रोफेसर और पुरस्कार के पूर्व विजेता होते हैं। हर साल फरवरी और मार्च में इस पुरस्कार के लिए नामांकनों का चयन किया जाता है। साल 2021 के नोबेल शांति पुरस्कार का ऐलान अगले साल अक्टूबर में किया जाएगा। इस साल यानी 2020 के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए 318 लोगों का नामांकन हुआ था। इनमें से 211 लोग और 107 संगठन शामिल थे।

Read More: आईआईटी इंदौर परिसर में जल्द खुलेगा केंद्रीय विद्यालय, जारी किया आदेश

टाइब्रिंग गजेड नॉर्वे के उन दो सांसदों में से एक हैं, जिन्होंने वर्ष 2018 में भी डोनाल्ड ट्रंप को उत्तर और दक्षिण कोरिया के बीच समझौता के प्रयासों को लेकर नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित किया था। बता दें, कोई भी सांसद किसी को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित कर सकता है। नॉर्वे की नोबेल समिति के समक्ष एक फरवरी तक नामांकन भेजने होते हैं। अब तक चार यूएस प्रेसीडेंट को नोबेल शांति पुरस्कार मिल चुका है।

COMMENT