डीजीसीए ने यात्रियों को विदेश जाने वाले एयरलाइंस की वेबसाइट पर किराया जांचने की दी सलाह

Views : 1558  |  3 minutes read
DGCA-Advice-For-Passengers

विमानन नियामक एजेंसी (डीजीसीए) ने विदेश जा रहे यात्रियों को एक बहुत ही काम की सलाह दी है। दरअसल, डीजीसीए ने सलाह दी है कि यात्रियों को एयर टिकट का किराया संबंधित एयरलाइन की वेबसाइट पर जांच लेना चाहिए, क्योंकि मेटासर्च इंजन कई बार सही किराया नहीं बताते हैं। आपको जानकारी के लिए बता दें कि भारत में गूगल व स्काई स्कैनर जैसे कई मेटासर्च इंजन अपनी सर्विस एयर पैसेंजर्स को देते हैं। ख़ासकर इनकी सर्विस का इस्तेमाल विभिन्न एयरलाइंस का किराया जांचने में होता है।

डीजीसीए ने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से दी ये जानकारी

नागर विमानन महानिदेशलय ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक पोस्ट करते हुए लिखा, ‘जब यात्री प्रस्थान से गंतव्य तक की यात्रा के टिकट की कीमत जानने का प्रयास कर रहे होते हैं, तब मेटासर्च इंजन कभी-कभी कई एयरलाइन की सेवाओं को जोड़ कर किराया बताते हैं, जिससे किराया अधिक लगता है।’ डीजीसीए ने अपने ट्वीट से यह स्पष्ट किया कि पैसेंजर को टिकट बुक करने से पहले संबंधित एयरलाइन की वेबसाइट पर टिकट की कीमत जांच कर लेनी चाहिए। इससे यात्री के मन में टिकट की कीमत को लेकर किसी प्रकार का कोई सवाल नहीं रह जाएगा।

गृह मंत्रालय के अधिकारी की शिकायत पर दिया स्पष्टीकरण

केंद्रीय गृह मंत्रालय के अंतर राज्यीय परिषद सचिवालय में सचिव संजीव गुप्ता ने पिछले दिनों एक शिकायत की थी कि 26 अगस्त के लिए दिल्ली से लंदन की उड़ान का ब्रिटिश एयरवेज में इकोनॉमी क्लास का किराया 3.95 लाख रुपये था। इसके बाद नागर विमानन मंत्रालय ने अपनी ओर से स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा था कि अगस्त के दौरान दिल्ली से लंदन की उड़ान का इकोनॉमी क्लास का किराया 1.03 लाख से 1.47 लाख रुपये के बीच था। मतलब गुप्ता को मेटासर्च इंजन ने सही किराया नहीं बताया था।

Read Also: अब ट्रेन में सामान चोरी होने पर यात्री एप के जरिए भी दर्ज करा सकेंगे शिकायत

COMMENT