कोरोना टीके की मिश्रित खुराक के इस्तेमाल को डीसीजीआई ने दी अनुमति

Views : 1440  |  3 minutes read
DCGI-Allows-Mixed-Vaccine-Dose

कोरोना महामारी पर काबू पाने के लिए देश में पिछले छह महीने से टीकाकरण किया जा रहा है। कई देशी और विदेशी कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल को पहले ही मंजूरी दी जा चुकी है। जल्द ही कोविड की सिंगल डोज वैक्सीन भी मार्केट में आने संभावना है। इसी बीच कोरोना वायरस से बचाव के लिए अब टीके की मिश्रित खुराक का भी इस्तेमाल होगा। जानकारी के अनुसार, विशेषज्ञ समिति (एसईसी) की सिफारिशों के आधार पर औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने इसकी अनुमति दे दी है। माना जा रहा है कि इसकी आधिकारिक घोषणा जल्द हो सकती है।

क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज ने मांगी थी मिश्रित खुराक की अनुमति

पिछले दिनों हुई विशेषज्ञ समिति की बैठक में वैल्लोर स्थित क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज ने कोवाक्सिन और कोविशील्ड वैक्सीन की मिश्रित खुराक की अनुमति मांगी थी। इस दौरान ही समिति ने इसे मंजूर कर लिया था। वहीं, अधिकारियों का कहना है कि इसे लेकर टीकाकरण पर गठित राष्ट्रीय तकनीकी सलाह समिति का फैसला अभी बाकी है। आपको बता दें कि वैक्सीनेशन कमिटी की सिफारिशों के आधार पर कोरोना की मिश्रित खुराक को टीकाकरण में शामिल किया जाएगा।

गुजरात में कोवाक्सिन का उत्पादन शुरू होने जा रहा

मालूम हो कि देश में कोवाक्सिन टीके की उपलब्धता बढ़ाने के लिए इसी 15 अगस्त के बाद गुजरात के अंकलेश्वर स्थित कारखाने में इसका उत्पादन शुरू होने जा रहा है। जानकारी के मुताबिक, इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया भी मौजूद रह सकते हैं। उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश, कर्नाटक व महाराष्ट्र में भी चार जगहों पर कोवाक्सिन वैक्सीन के उत्पादन को पहले ही मंजूरी दी जा चुकी है। हालांकि, अभी तक वहां कोरोना वैक्सीन का उत्पादन शुरू नहीं हो सका है। लेकिन जल्द ही इन प्रदेशों में भी कोवाक्सिन का उत्पादन शुरू हो जाएगा।

Read Also: सितंबर के अंत तक लॉन्च की जा सकती है बायोलॉजिकल ई. की कोरोना वैक्सीन

COMMENT