बौद्ध बहुल श्रीलंका ने पशु हत्या पर प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव को दी मंजूरी

Views : 707  |  3 minutes read
Sri-Lanka-Ban-Animal-Killing

भारत के कई राज्यों में गौहत्या पर पहले से ही प्रतिबंध लगा हुआ है। अब भारत का पड़ोसी देश श्रीलंका भी अपने यहां पशु हत्या पर प्रतिबंध लगाने जा रहा है। ताज़ा जानकारी के अनुसार, श्रीलंका सरकार ने मंगलवार को देश में पशु हत्या पर प्रतिबंध लगाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। हालांकि, श्रीलंकाई सरकार द्वारा उन लोगों के लिए बीफ आयात करने का निर्णय लिया गया है, जो इसका सेवन करते आ रहे हैं।

पशु हत्या पर रोक की लंबे समय से उठ रही थी मांग

श्रीलंका की कैबिनेट के प्रवक्ता केहलिया रामबुकवेला ने कहा, ‘इस प्रस्ताव को कानून का रूप देने की प्रक्रिया जल्द पूरी कर ली जाएगी। प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने पशु हत्या पर रोक लगाने का प्रस्ताव दिया था, जिसे आठ सितंबर को सत्तारूढ़ पार्टी के सांसदों के एक समूह ने पारित किया था। हालांकि, केंद्रीय कैबिनेट ने बीफ आयात करने और खाने वाले लोगों के लिए यह रियायती दर पर मुहैया कराने का भी निर्णय लिया है। उल्लेखनीय है कि बौद्धों की बहुलता के कारण श्रीलंका में पशु हत्या पर वर्षों से रोक लगाने की मांग उठती रही है, जिसके बाद अब सरकार इस पर कानून बना रही है।

Read More: एफटीआईआई के नए अध्यक्ष बने शेखर कपूर, मार्च 2023 तक के लिए हुई नियुक्ति

श्रीलंका में 70 फीसदी से ज्यादा बौद्ध धर्म अनुयायी

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका में साल 2012 में जनगणना हुई थी। इस जनगणना के अनुसार, दो करोड़ से ज्यादा आबादी वाले श्रीलंका में 70.10 प्रतिशत बौद्ध, 12.58 प्रतिशत हिंदू, 9.66 प्रतिशत मुस्लिम और 7.62 प्रतिशत ईसाई धर्म के लोग निवास करते हैं।

COMMENT