स्पेशल: बॉलीवुड की पहली एक्शन हिरोइन थी फीयरलेस नाडिया

Views : 2543  |  4 minutes read
Fearless-Nadia-Biography

40 के दशक में हिंदी सिनेमा में एक ऐसी अभिनेत्री ने कदम रखा था जिसने अपने अभिनय से कम बल्कि अपने हैरतअंगेज स्टंट्स के दम पर सबको भौचक्का कर दिया। उस दौर में ना सिर्फ निर्माता निर्देशक बल्कि रील लाइफ के हिरो भी दाँतों तले उंगलियां चबाने को मजबूर हो गये। बात कर रहे हैं अभिनेत्री मैरी एन इवांस अक्का ‘फीयरलेस नाडिया’ की। जिन्हें फिल्म इंडस्ट्री में एक ऐसी अभिनेत्री के रुप में जाना जाता है जो अभिनय के साथ साथ फिल्मों में बेहद खतरनाक स्टंट्स बिना किसी स्टंटमैन के खुद करना पसंद करती थी। यही वजह है कि बॉलीवुड ने उन्हें ‘फियरलेस नाडिया’ नाम दिया।

नाडिया का जन्म 8 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया के पर्थ में हुआ था। उनके पिता हर्बर्ट इवांस ब्रिटिश आर्मी ऑफिसर थे। प्रथम विश्व युध्द के दौरान उन्हें भारत भेज दिया गया। पिता के साथ पूरा परिवार भारत आया नाडिया भी। यहां रहते हुए नाडिया ने बचपन से ही घुड़सवारी, तलवारबाजी,शूटिंग, शिकार की ट्रेनिंग ली थी। यही वजह है कि नाडिया ने आगे चलकर अपने हुनर में कुछ करने की ठानी।

फिल्मी सफर की शुरुआत

पिता की मौत के बाद परिवार की जिम्मेदारी नाडिया पर आई। परिवार की मदद करने के लिए नाडिया ने सर्कस में भी हाथ आजमाया। मुंबई रहते हुए नाडिया ने कई साल सर्कस में काम किया। उनकी किस्मत उस दिन पलटी जब जमशेद बोमन होमी की नजर उनपर पड़ी। होमी ने पहली ही नजर में उनके अंदर वो प्रतिभा देखी और फिल्मों में लेने का फैसला कर लिया। साल 1933 में आई फिल्म देश के दीपक से नाडिया के सिने कॅरियर की शुरुआत हुई।

बॉलीवुड में कहलाई पहली स्टंट वुमन ‘हंटरवाली’

नाडिया को असल पहचान साल 1935 में आई फिल्म हंटरवाली से मिली। इस फिल्म में नाडिया पहले से कहीं तेज और ताकतवर महिला किरदार में बेहद खतरनाक स्टंट करती नजर आईं। इस फिल्म के जरिये नाडिया ने ना सिर्फ दर्शकों का दिल जीता बल्कि फिल्म इंडस्ट्री में बॉलीवुड की पहली स्टंट वुमन होने का खिताब भी हासिल किया। इस फिल्म के बाद से ही उन्हें हंटरवाली कहा जाने लगा।

निजी जिंदगी

नाडिया को बॉलीवुड में इस मुकाम तक पहुंचाने में होमी का एक बहुत बड़ा हाथ रहा है। दोनों ने कई फिल्मों में साथ काम किया। फिल्मों में साथ काम करते हुए दोनों के बीच प्यार हुआ और दोनों ने कुछ सालों बाद इस प्यार को शादी में बदलने का फैसला लिया। दोनों ने साल 1961 में शादी कर ली। शादी के बाद भी नाडिया का फिल्मी सफर जारी रहा।

फिल्मी पर्दे पर किया ये असाधारण काम

नाडिया सर्कस में जाबांजी करतब दिखा चुकी थीं। यही वजह है कि फिल्मी पर्दे पर इन्हें दिखाना उनके बायें हाथ का खेल था। अपनी फिल्मों में वह ऊचाई से छलांग लगाती, चलती ट्रेन के ऊपर फाइट करती, खूंखार शेरों से दोस्ती कर लेती तो कभी मर्दों से दो-दो हाथ होने में पीछे नहीं हटती ये नाडिया की फिल्मों की विशिष्टता थी जो बिना किसी स्टंटमैन के अपने स्टंट बहुत ही सरीके से कर लेती। उस दौर में किसी महिला अभिनेत्री का ऐसा करना असाधारण काम था।

बढ़ती उम्र की वजह से नाडिया ने फिल्मी पर्दे से दूरी बना ली। 1986 को  9 जनवरी आज ही के दिन  88 साल की उम्र में नाडिया ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। आज भले ही नाडिया हमारे बीच नहीं है मगर बॉलीवुड में उनका योगदान भुलाया नहीं जा सकता। अपने दबंगई अभिनय और एक्शन वाली छवि के चलते वे आज भी लोगों के ज़हन में जिंदा हैं।

COMMENT