भाजपा ने पिछले साल चुनावी बॉन्ड से कमाए इतने करोड़ रुपये, टीएमसी को मिले 100 करोड़ से ज्यादा

Views : 1438  |  3 minutes read
Electoral-Bond-BJP

केंद्र में सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने वर्ष 2019-20 में अन्य सभी दलों से ज्यादा कमाई की है। भाजपा ने इस दौरान अपनी आय 3623 करोड़ रुपये दिखाई है। जानकारी के अनुसार, पार्टी ने चुनावी बॉन्ड के जरिए पिछले एक साल में 2555 करोड़ रुपये कमाए हैं। निर्वाचन आयोग की ओर से सार्वजनिक किए गए वर्ष 2019-20 के लिए भाजपा के लेखापरीक्षित वार्षिक खातों के अनुसार पार्टी को रसीदों से मिली राशि 3623 करोड़ 28 लाख छह हजार 93 रुपये है। इसी अवधि में पार्टी का खर्च 1651 करोड़ दो लाख 25 हजार 425 रुपये रहा।

भाजपा ने विज्ञापनों पर 400 करोड़ से अधिक खर्च किए

एक प्रमुख समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2019-20 में भारतीय जनता पार्टी को चुनावी बॉन्ड के माध्यम से कुल 2555 करोड़ एक हजार रुपये प्राप्त हुए। इस अवधि में चुनाव और आम प्रचार पर भाजपा का कुल खर्च 1352.92 करोड़ रुपये रहा। आपको जानकारी के लिए बता दें कि साल 2019 में लोकसभा चुनाव आयोजित हुए थे। इसके अलावा केंद्र में सत्ताधारी भाजपा ने अपने चुनावी खर्च और आम प्रचार के हिस्से के रूप में विज्ञापनों पर 400 करोड़ रुपये से अधिक खर्च किए।

चुनाव आयोग ने इसी सप्ताह सार्वजनिक किए दस्तावेज

भारतीय जनता पार्टी के अलावा वर्ष 2019-20 में चुनावी बॉन्ड के माध्यम से तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को 100.46 करोड़ रुपये, द्रमुक को 45 करोड़ रुपये, शिवसेना को 41 करोड़ रुपये, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) को 29.25 करोड़ रुपये और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को 2.5 करोड़ रुपये मिले। जानकारी के अनुसार, चुनाव आयोग के पास ये जानकारियां राजनीतिक दलों द्वारा इस साल 22 जुलाई को जमा कर दी गई थीं। लेकिन, निर्वाचन आयोग ने ये दस्तावेज इस सप्ताह सार्वजनिक किए हैं।

बता दें, चुनावी बॉन्ड और चंदा इकठ्ठा करने के मामलों में केंद्र की सत्ता पर आसीन भाजपा अन्य दलों के मुकाबले काफी आगे है। वहीं, देश में सबसे अधिक समय तक सत्ता पर ​काबिज रही कांग्रेस इस मामले में काफी पीछे है।

सुप्रीम कोर्ट का निर्देश- हाईकोर्ट की मंजूरी के बिना वापस नहीं होगा सांसद-विधायकों के खिलाफ केस

COMMENT