सरसों का तेल होता है कमाल का, पढ़िए इसके आयुर्वेदिक फायदे…

Views : 4041  |  0 minutes read

सरसों के तेल के बारे में हर कोई जानता है। यह हर भारतीय रसोई में पाया जाता है। इसका इस्तेमाल खाना बनाने के लिए किया जाता है। आपको बता दें कि सरसों का तेल सिर्फ खाना बनाने के ही काम में नहीं आता बल्कि यह कई बीमारियों को दूर भगाने का काम करता है। आर्युवेद की दुनिया में सरसों का तेल कई बीमारियों में रामबाण का काम करता है। दरअसल सरसों के तेल में ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड होता है। जो ना सिर्फ खाने के स्वाद को बढ़ाने का काम करता है बल्कि यह शरीर की मांसपेशियों, शरीर के जोड़ों, दिल और त्वचा के लिए भी लाभदायक होता है। चलिए जानें सरसों के तेल के ये फायदे…

दिल के लिए फायदेमंद

भोजन में सरसों के तेल का सेवन करने से दिल की बीमारियों को दूर करता है। सरसों के तेल में पाये जाने वाले एयूएफए शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को सही रखता है। वहीं अल्फा-लिनोलेनिक एसिड दिल से संबधित बीमारियों को दूर करने का काम करता है।

नाखून और फटी एड़ी में रामबाण

बदलते मौसम में एड़ियों का फटना आम है। फटी एड़ियों की समस्या को दूर भगाने में सरसों का तेल काफी असरदार होता है। मोमबत्ती को पिघलाकर बराबर मात्रा में सरसों का तेल मिलाए और फटी एड़ियों में लगाए। नाखूनों के ईर्द गिर्द हटने वाली स्किन में भी इसे लगाने से तुरंत राहत मिलती है।

संक्रमण से दे राहत

सरसों के तेल में एंटी बैक्टिरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं। जिसका इस्तेमाल करने से इंफेक्शन को रोका जा सकता है।

त्वचा के लिए लाभकारी

सरसों का तेल त्वचा के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। दरअसल इसमें विटामिन ई पाया जाता है जो त्वचा संबधित कई परेशानियों को दूर कर सकता है। यह सनटैन, फाइन लाइन्स और रिंकल्स जैसी समस्या को दूर भगाता है। ध्यान रखने वाली बात ये है कि ऑयली स्किन और सेंसेटिव स्किन वाले इसका इस्तेमाल त्वचा पर करने से बचें।

COMMENT