देश में 26 मई को एक और चक्रवाती तूफान आ सकता है: मौसम विज्ञान विभाग

Views : 1870  |  3 minutes read
Cyclonic-Storm-India-IMD

पिछले दिनों देश में आए चक्रवाती तूफान ताउते ने दो राज्यों को भारी नुकसान पहुंचाया। इसके बाद अब भारत मौसम विज्ञान विभाग यानि आईएमडी ने कहा है कि देश के कुछ राज्यों को एक और चक्रवाती तूफान का सामना करना पड़ सकता है। मौसम विज्ञान विभाग ने बुधवार को जानकारी दी कि उत्तर अंडमान सागर और बंगाल की पूर्वी मध्य खाड़ी में 22 मई को कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है जो चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। यह कुछ तटीय राज्यों को नुकसान पहुंचा सकता है।

26 मई को बंगाल-ओडिशा के तटों तक पहुंच सकता है तूफान

भारत मौसम विज्ञान विभाग के क्षेत्रीय निदेशक जी.के. दास ने कहा कि यह चक्रवाती तूफान उत्तर पश्चिम की तरफ बढ़ सकता है और 26 मई की शाम तक पश्चिम बंगाल-ओडिशा के तटों तक पहुंच सकता है। उन्होंने कहा कि चक्रवाती तूफान की रफ्तार अधिक तेज हो सकती है। 22 मई को बनने वाला कम दबाव का क्षेत्र अगले 72 घंटे में चक्रवाती तूफान में बदल सकता है। दास ने बताया कि पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में 25 मई से हल्की से मध्यम स्तर की बारिश हो सकती है। इसके बाद बारिश तेज होगी और दक्षिण बंगाल के जिलों में तेज बारिश आ सकती है।

ताउते से गुजरात और महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी नुकसान

आपको जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले चक्रवाती तूफान ताउते ने देश के दो राज्य गुजरात और महाराष्ट्र के कई इलाकों में भारी नुकसान पहुंचाया। यहां बिजली के खंभे गिर गए और हजारों पेड़ उखड़ गए तथा कई घरों व सड़कों को भी इससे नुकसान पहुंचा। इस दौरान हुई घटनाओं में करीब 13 लोगों की जान भी चली गई है। गुजरात में ताउते चक्रवाती तूफान के कारण 200 से अधिक तालुकाओं में बारिश हुई। हालांकि, तूफान से पहले एहतियाती तौर पर राज्य सरकार ने पहले ही दो लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया था, जिससे लोग इसकी चपेट में नहीं आए।

ताउते से हुए नुकसान का पीएम मोदी ने लिया जायजा, गुजरात को राहत कार्यों के लिए 1000 करोड़

COMMENT