हिंदी सिनेमा के सर्वोच्च पुरस्कार ‘दादासाहेब फाल्के’ से सम्मानित हुए अमिताभ, कही दिल छू लेने वाली बात

Views : 1650  |  0 minutes read

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को रविवार को हिंदी सिनेमा के सर्वोच्च सम्मान दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। दिल्ली स्थित प्रेसिडेंट हाउस में राष्ट्रपति रामनाथ गोविंद ने उन्हें यह सम्मान दिया। इस खास मौके पर अमिताभ के साथ उनकी पत्नी जया बच्चन और बेटे अभिषेक बच्चन मौजूद थे। गौरतलब है कि अमिताभ बच्चन को राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में सम्मानित किया जाना था मगर खराब स्वास्थ्य की वजह से अमिताभ इस समारोह में नहीं पहुंच पाए।

पुरस्कार प्राप्त करने के बाद अमिताभ बच्चन ने देश की जनता और फिल्म निर्माता निर्देशकों और सरकार का शुक्रिया अदा किया। अमिताभ बच्चन ने कहा, मुझ पर ईश्वर की कृपा रही है, माता-पिता का आशीर्वाद रहा है। सिने सफर के दौरान फिल्म इंडस्ट्री के निर्माता-निर्देशक, सह कलाकारों का साथ रहा। इससे ज्यादा देश की जनता का प्यार और प्रोत्साहन मिलता रहा जिसकी वजह से आज मैं आप सभी के सामने खड़ा हूं।

उन्होंने कहा कि, जब इस सम्मान की घोषणा हुई तो मुझे लगा कि कहीं ये इस ओर इशारा तो नहीं कि अब आप घर बैठिए और आराम किजिए। उन्होंने बड़े ही विनम्र स्वभाव से कहा कि अभी बहुत सारा काम है जिसे खत्म करना है।

सिने सफर की शुरुआत

अमिताभ बच्चन को इंडस्ट्री में लगभग 5 दशक लंबा समय हो गया है और वे आज भी सक्रिय हैं। अमिताभ ने अपने सिने कॅरियर की शुरुआत साल 1969 में रिलीज हुई फिल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ से की थी। तो वहीं फिल्म ‘जंजीर’ से अमिताभ बतौर सफल अभिनेता अपनी पहचान बनाने में कामयाब हुए।

COMMENT