अन्नू कपूर को आर्थिक तंगी के कारण छोड़नी पड़ी थी स्कूल की पढ़ाई

Views : 3107  |  4 minutes read
Annu-Kapoor-Biography

यदि आप अपने लक्ष्य को पाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं, तो प्रसिद्धि और सफलता एक दिन जरूर आपके कदम चूमेगी। इस बात को चरितार्थ करके दिखाया हिंदी फिल्मों के जाने माने अभिनेता अन्नू कपूर ने। वह एक नॉन फिल्मी परिवार से आते हैं। अन्नू ने अपनी कठोर परिश्रम और समर्पण से यह मुकाम हासिल किया है। आज हर बॉलीवुड सिने प्रेमी उन्हें उनके काम की बदौलत जानता है। 20 फरवरी को अन्नू कपूर अपना 66वां जन्मदिन मना रहे हैं। ऐसे में इस खास मौके पर जानते हैं उनके बारे में दिलचस्प बातें..

अन्नू का गरीबी में बीता था बचपन

अन्नू कपूर का मूल नाम अनिल कपूर है। उनका जन्म 20 फरवरी 1956 को मध्यप्रदेश के भोपाल में एक पंजाबी परिवार में हुआ था। अनु कपूर के पिता का नाम मदनलाल कपूर पंजाबी और मां कमल बंगाली थीं। अन्नू कमजोर वित्तीय स्थितियों के कारण अपनी स्कूली शिक्षा पूरी नहीं कर सके। वह किसी कॉलेज में पढ़ाई नहीं करने के बावजूद कई विषयों के बारे में एक जानकार व्यक्ति हैं। उन्हें भारतीय वेदों का विस्तृत ज्ञान है। अभिनेता अन्नू के पिता मदनलाल एक थिएटर कंपनी चलाते थे। वहीं, उनकी मां पेशे से शिक्षक थीं। उनका बचपन बेहद कठिन समय से गुजरा है। उनके परिवार की हालत इतनी खराब थी कि कई दफा उनके पास पेट भरने तक के पैसे नहीं थे।

Actor-Annu-Kapoor

जब अपनी पहली पत्नी से ही की दूसरी शादी

अभिनेता अन्नू कपूर के वैवाहिक जीवन में कई मोड़ आए। उनकी पहली पत्नी अनुपमा थीं, जिनके साथ वह वर्ष 2008 में दूसरी बार शादी के बंधन में बंधे। उन्होंने अपनी दूसरी पत्नी अरुणिता मुखर्जी से वर्ष 1995 में शादी की, लेकिन वह अपनी पहली पत्नी अनुपमा के साथ लगातार संपर्क में थे। इस वजह से अन्नू और अरुणिता के बीच तलाक हो गया। अरुणिता ने अन्नू की एक बेटी को जन्म दिया, जिसका नाम अराधिता कपूर है। अन्नू कपूर को पहली पत्नी अनुपता से तीन बेटे इवाम, कवान और माहिर कपूर हैं।

फिल्म ‘मंडी’ से शुरू हुआ बॉलीवुड का सफर

आर्थिक तंगी के कारण अन्नू कपूर ने अपनी स्कूल की पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी और अपने पिता की थिएटर कंपनी में काम करने लगे थे। इस दौरान फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल उनके एक नाटक से काफी प्रभावित हुए। उन्होंने अन्नू के अंदर छिपे एक दमदार कलाकार को पहचान लिया और अपनी फिल्म ‘मंडी’ ऑफर कर दी। इस तरह उनके बॉलीवुड सफर की शुरूआत हुई।

टीवी शो ‘अंताक्षरी’ से बनाई घर-घर में जगह

अन्नू कपूर भारतीय टेलीविजन उद्योग के भी एक चर्चित चेहरे रहे हैं। उन्होंने कई शो होस्ट किए हैं। उनकी प्रस्तुति और बोलने का तरीका मंत्रमुग्ध कर देने वाला होता है। क्या आपको 90 का शो ‘अंताक्षरी’ याद है? अन्नू कपूर द्वारा होस्ट किया गया ये संगीत शो, उस समय का सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला शो था। उन्होंने टीवी सीरियल्स में काम किया। अन्नू ने मस्ती चैनल पर ‘अन्नू कपूर के साथ गोल्डन एरा’ की भी मेजबानी की।

Actor-Annu-Kapoor

अच्छे अभिनेता होने के साथ ही निर्देशक व निर्माता भी

अभिनय और होस्टिंग से अलग अन्नू कपूर एक प्रतिभाशाली निर्देशक भी हैं। उन्होंने एक पुरस्कार विजेता फिल्म ‘अभय’ का निर्देशन किया है। इसके अलावा कई संगीत शो, भक्ति एल्बम और नाटकों का निर्देशन और निर्माण भी वह कर चुके हैं। उनके नाटक ‘इक रुका हुआ फैसला’ ने उन्हें हिंदी सिनेमा में कॅरियर स्थापित करने में काफी मदद की।

ओम पुरी से रिश्ता होने के बावजूद कभी नहीं बनी

अन्नू कपूर स्वर्गीय ख्यातनाम अभिनेता ओम पुरी के ब्रदर इन लॉ थे। अन्नू की बहन सीमा कपूर, ओम पुरी की पत्नी थीं। हालांकि, शादी के तुरंत बाद ही उनका तलाक हो गया था। अनू कपूर ने कुछ फिल्मों में ओम पुरी के साथ काम किया, लेकिन इसके बावजूद दोनों एक-दूसरे के साथ कभी दोस्ती नहीं कर पाए। वे दोनों सिर्फ सह-कलाकार तक सीमित रहे। उन्होंने कभी भी एक व्यक्ति के रूप में दिवंगत कलाकार ओम पुरी की प्रशंसा नहीं की है।

अभिनेता अन्नू कपूर के फिल्मी कॅरियर की बात करें तो उन्होंने कई फिल्मों में अपनी अदायगी से सिने दर्शकों का दिल जीता है और अपनी एक अलग पहचान बनाई है। फिल्म ‘विकी डोनर’, जॉली एलएलबी-2′ और ‘ड्रीम गर्ल’ में उनके काम को फिल्म समीक्षकों ने खूब सराहा है। साल 2020 में अन्नू ‘खुदा हाफ़िज’ और ‘सूरज पे मंगल भारी’ जैसी फिल्मों में नज़र आए। इस साल वह ‘दरबान’ और अमिताभ बच्चन स्टारर ‘चेहरे’ में दिखेंगे।

Read More: अभिनेत्री सोनू वालिया ने ‘मिस इंडिया’ बनने के बाद फिल्मों में बनाया कॅरियर

COMMENT