बस में बैठाकर अपने मंत्रियों को शपथ दिलाने पहुंचे पायलट-गहलोत

Views : 3537  |  0 minutes read

तीन दिन दिल्ली में हुई माथा पच्ची के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कैबिनेट बन ही गया। आज अशोक गहलोत के 23 मंत्रियों ने राजभवन पहुंचकर शपथ ली लेकिन अभी उन्हें कोई मंत्रालय नहीं बांटा गया है। आज राजस्थान के गवर्नर कल्याण सिंह ने राजभवन में 13 कैबिनेट और 10 राज्यमंत्रियों को शपथ दिलाई। इससे पहले ये सभी मंत्री बस में सवार होकर राजभवन पहुंचे थे।

गहलोत के 12 और पायलट के 8 चहेते बने मंत्री

इससे पहले कांग्रेस ने दिल्ली में राहुल गांधी की अध्यक्षता में हुई तीन दिन तक गहन मंथन करने के बाद मंत्रिमंडल के 23 नामों पर आखिरी मुहर लगाई। इन 23 मंत्रियों में से 12 मंत्री मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबियों में से माने जाते हैं जबकि 8 मंत्री उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के खेमे से ताल्लूक रखते हैं। बचे 3 मंत्री राहुल और कांग्रेस के प्रदेश संगठन की सिफारिशों से बने हैं।

18 विधायक पहली बार बन रहे मंत्री, चांदना सबसे युवा

अशोक गहलोत की अध्यक्षता वाली कांग्रेस सरकार के मंत्रिमंडल पर नजर डालें तो करीब 18 ऐसे विधायक हैं जिन्होनें पहली बार मंत्री पद की शपथ ली है वहीं 25 ऐसे विधायक भी हैं जिन्हें जनता ने चुना ही पहली बार है लेकिन उन्हें मंत्री नहीं बनाया गया है।

 

गहलोत सरकार का मंत्रीमंडल

महिलाओं को मंत्री बनाने की बात की जाए तो इस बार 11 महिला विधायकों में से केवल ममता भूपेश को ही मंत्री बनाया गया है। अल्पसंख्यकों में से भी केवल पोकरण विधायक सालेह मोहम्मद को ही मंत्री पद के लिए चुना गया। गहलोत कैबिनेट में अशोक चांदना (34) मंत्री बनने वाले सबसे युवा चेहरा है वहीं 75 साल के शांति धारीवाल सबसे उम्रदराज मंत्री होंगे।

दिग्गज जिन्हें नहीं मिला कुछ भी

कांग्रेस में कुछ ऐसे दिग्गज भी शामिल हैं जिन्हें ना तो कैबिनेट में जगह मिली और ना ही राज्यमंत्री ही बनाया गया। सीपी जोशी, महेश जोशी, दीपेंद्र सिंह शेखावत, परसराम मोरदिया जैसे दिग्गजों को मंत्री नहीं बनाया गया है। सूत्रों के अनुसार कांग्रेस अपने कई दिग्गज विधायकों को आगामी लोकसभा चुनाव लड़ा सकती है या फिर इन्हें कोई संवैधानिक पदों पर बैठाया जा सकता है।

ये बने कैबिनेट मंत्री

सालेह मोहम्मद, लालचंद कटारिया, शांति धारीवाल, प्रताप सिंह खाचरियावास, बीडी कल्ला, परसादी लाल मीणा, मास्टर भंवरलाल मेघवाल, लालचंद कटारिया, डॉ. रघु शर्मा, प्रमोद जैन भाया, विश्वेंद्र सिंह, हरीश चौधरी, रमेश मीणा, उदयलाल आंजना।

इन्हें मिला राज्यमंत्री का दर्जा

टीकाराम जूली, गोविंद सिंह डोटासरा, ममता भूपेश, अर्जुन सिंह बामनिया, भंवर सिंह भाटी, सुखराम विश्नोई, अशोक चांदना, भजनलाल जाटव, राजेन्द्र सिंह यादव, सुभाष गर्ग (आरएलडी)

COMMENT