​हार के बाद सोशल मीडिया पर इन कारणों से ट्रोल हो रही है टीम इंडिया, कुछ तो चौंकाने वाले हैं!

Views : 2269  |  0 minutes read

वर्ल्ड कप 2019 में टीम इंडिया की परफॉरमेंस अभी तक काफी अच्छी चल रही थी मगर इंग्लैंड से मिली हार के भारतीय टीम को सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल किया जा रहा है। गौरतलब है कि टीम इंडिया सेमीफाइनल पहुंचने के बिल्कुल करीब है। अब हार और जीत तो खेल का हिस्सा है मगर हार की वजह इस बार कुछ और बताई जा रही है। रविवार को मिली हार के बाद अलग-अलग वजहों से इंडियन टीम ट्रोल हो रही है।

क्या भगवा रंग की वजह से हार गई टीम इंडिया

पहली वजह दोनों ही टीमों की जर्सी का रंग मिलता-जुलता होने की वजह से इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम नए कलेवर के साथ नई आरेंज जर्सी में उतरी थी। रविवार को जब टीम हार रही थी तब कई लोग फेसबुक पर कमेंट कर रहे थे कि भगवा रंग टीम को सूट नहीं किया। कुछ लोगों ने कमेंट किया कि भगवा रंग पहनकर पहले भी भारत अग्रेंजों को हरा नहीं सका और आज भी नहीं हरा पाएगा। इस आरेंज जर्सी पर टीम इंडिया का पहले भी विरोध किया था। कांग्रेस पार्टी ने तब इस भगवा रंग को लेकर नेगेटिव कमेंट किये थे। अब ये टी शर्ट पहनकर टीम हार गई तो बवाल बढ़ना ही था।

ऋषभ पंत तो नहीं थे पनौती

दूसरी वजह इंग्लैंड को अभी तक पाकिस्तान, ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के खिलाफ हार का सामने करना पड़ा था। इग्लैंड के खिलाफ रविवार को भारतीय प्लेइंग इलेवन में ऋषभ पंत का शामिल होना फैंस के बीच काफी चर्चित रहा। आखिरकार इस युवा क्रिकेटर ऋषभ पंत को पहली बार मौका मिला। उन्होंने 29 गेंदों में 32 रनों की पारी खेली। पंत ने अपने वर्ल्ड कप डेब्यू मैच में हर किसी का ध्यान अपनी ओर खींचा पंत ने क्रिकेट की दुनिया को कुछ ट्रेडमार्क शॉट्स जरूर दिखाए।

रोहित से मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में पंत के बारे में पूछा गया कि क्या वह ऋषभ पंत को हार्दिक पांड्या से आगे नंबर-4 पर बल्लेबाजी के लिए उतरता देख हैरान नहीं हुए..? पंत ने तो वर्ल्ड कप में इससे पहले एक भी मैच नहीं खेला था, जबकि हार्दिक पंड्या फॉर्म में चल रहे थे…भारतीय उपकप्तान ने पत्रकार के इस सवाल पर ‘शानदार’ जवाब दिया।रोहित ने मजाक में कहा, ‘वास्तव में मुछे कोई आश्चर्य नहीं हुआ, क्योंकि आप सभी चाहते थे कि ऋषभ पंत खेलें. जब हम वर्ल्ड कप खेलने के लिए निकले तभी से आप सभी पूछते रहे हैं कि ऋषभ पंत.. ऋषभ पंत कहां हैं..? और वह नंबर 4 पर हैं।’

धोनी और जाधव की बैटिंग पर उठे सवाल

इस हार से भारत को भले ही कोई खास फर्क नहीं पड़ा लेकिन आखिर के ओवर्स में भारतीय बल्लेबाजों ने जिस तरह से बैटिंग की उसकी अब काफी आलोचना हो रही है। क्रिकेट फैंस के साथ-साथ क्रिकेट एक्सपर्ट्स ने भी आखिरी ओवर्स में केदार जाधव और महेंद्र सिंह धोनी की धीमी बल्लेबाजी की आलोचना की है। रोहित शर्मा के शतक और फिर विराट कोहली के अर्धशतक ने उम्मीदें जगा दी थीं। फिर आखिरी के 5 ओवर्स में 71 रनों की जरूरत थी। यानी 30 गेदों में 71 रन चाहिए थे और भारत के 5 विकेट बचे हुए थे। विकेट हाथ में होने के बावजूद धोनी और जाधव ने कोई रिस्क नहीं लिया। आखिरी 30 गेंदों में 40 रन बने और भारत 31 रनों से हार गया।

क्रिकेट फैंस ने भी इस मैच पर तरह-तरह के रिएक्शन दिए। लोगों ने आखिरी ओवर्स में भारत की रणनीति को हथियार डाल देने जैसा बताया। कुछ लोगों ने इसके लिए सीधे तौर पर महेंद्र सिंह धोनी को जिम्मेदार ठहराया। बता दें कि धोनी की बल्लेबाजी पर पिछले कुछ मैचों से सवाल उठ रहे हैं। उन पर आरोप लग रहे हैं कि वह फील्ड पर सेट होने में ज्यादा वक्त लेते हैं और पहले की तरह फिनिश भी नहीं कर पाते।

COMMENT