वर्ल्ड फोटोग्राफी डे: हजारों शब्दों के लिए सिर्फ एक फोटो काफी है, देखिए कुछ चर्चित तस्वीरें…

Views : 6173  |  3 minutes read
World-Photography-Day-

कहते हैं हजार शब्द जो बात नहीं कह सकते, वह काम एक फोटो कर देती है। जीवन के हर रंग को यदि बेहतरी से कोई समझा सकता है तो वह है फोटो। खुशी, दर्द, प्यार, नफ़रत, गुस्सा, करुणा, दया जैसे कई भाव एक फोटो के जरिए बहुत आसानी से बयां किए जा सकते हैं। फोटो की एक अलग दुनिया होती है, जहां अनकहे शब्दों को जगह मिलती है। फोटो की इसी ताकत को ध्यान में रखते हुए पूरी दुनिया में 19 अगस्त को विश्व फोटोग्राफी दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य दुनियाभर के फोटोग्राफर्स को ऐसी तस्वीर खींचने के लिए प्रोत्साहित करना है, जिसमें पूरे विश्व की स्पष्ट और साझा झलक हो। यानि इसका सामान्य सा उद्देश्य तस्वीरों के माध्यम से अपनी दुनिया को बाकी दुनिया से रूबरू कराना है। ऐसे में वर्ल्ड फोटोग्राफी डे पर आइए जानते हैं कि यह इस दिन क्यों मनाया जाता है, साथ ही देखते हैं ऐसे कुछ फोटोज जिन्होंने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा…

इसलिए मनाया जाता है विश्व फोटोग्राफी दिवस

9 जनवरी, 1839 को दुनिया की सबसे पहली फोटोग्राफी टेक्निक का आविष्कार हुआ था। इस टेक्निक का नाम था डॉगोरोटाइ, इसे जोसेफ नाइसफोर और लुइस डॉगेर ने खोजा था। इस टेक्निक के आविष्कार का ऐलान फ्रांस सरकार ने 19 अगस्त, 1839 में किया। इसी कारण 19 अगस्त को वर्ल्ड फोटोग्राफी डे के तौर पर सेलिब्रेट किया जाता है। हालांकि इस दिन को लोकप्रियता साल 2010 में मिलीं, जब ऑस्ट्रलिया के एक फोटोग्राफर ने इसके बारे में जागरुकता फैलाने का फैसला किया। उन्होंने इस दिन अपने 270 साथी फोटोग्राफर्स के साथ मिलकर उनकी तस्वीरें ऑनलाइन गैलरी के जरिए पेश की। इन तस्वीरों को लोगों ने खूब सराहा।

आइए देखें कुछ टॉकिंग फोटोज…

The Terror Of War, Nick Ut, 1972
The Burning Monk, Malcolm Browne, 1963
Lunch Atop A Skyscraper, 1932
Falling Man, Richard Drew, 2001
Alan Kurdi, Nilüfer Demir, 2015
Earthrise, William Anders, NASA, 1968
Mushroom Cloud Over Nagasaki, Lieutenant Charles Levy, 1945

V-J Day In Times Square, Alfred Eisenstaedt, 1945. 

See Also: #World_Photography_Day पर देखिये वो तस्वीरें जिन्होंने दुनियाभर में तहलका मचाया

COMMENT