कब सोचेंगे हम : मनाली को कचरे के ढ़ेर में दबा रहे हैं पर्यटक, गर्मियों की छुट्टियों में इकट्ठा हुआ हजारों टन कूड़ा

Views : 3218  |  0 minutes read

कई लोग देश-विदेश में घूमकर आते हैं और फिर जो भी दोस्त मिले या ऑफिस में साथियों के साथ उस पर्यटन स्थल की तारीफ करते लोग थकते नहीं हैं, लेकिन अपने पीछे वहां जो कूड़ा छोड़कर आए हैं उसका जिक्र कोई नहीं करता है। यह सच है चाहे दुनिया का कोई भी पर्यटन स्थल हो उसे हम ही सुन्दर और बदसूरत बनाते हैं। जी हां, अभी गर्मियों के दिन समाप्त हुए हैं। ऐसे में हिमाचल प्रदेश की बेहद खूबसूरत पर्यटन स्थली मनाली में गर्मियों के दिनों में लाखों पर्यटक आए। ये पर्यटक अपने साथ ताजा यादें लें तो गए, पर यहां छोड़ गए हजार टन कूड़ा। जो यहां के प्रशासन के लिए सिरदर्द बना गया है और उसके निस्तारण में लगे हुए हैं।

खबरों के मुताबिक पिछले करीब तीन महीने में यहां करीब दो लाख पर्यटक घूमने आए थे। इन पर्यटकों ने पूरे शहर में भ्रमण किया और अपनी छुट्टियों को खूब एंजॉय किया। उन्हें केवल अपना एंजॉय याद रहा, पर जाते समय वे अपने साथ लाए खाने-पीने के सामानों का कचरा मनाली में इधर-उधर फेंक आए जिससे खूबसूरत मनाली में 2 हजार टन कूड़े का ढ़ेर लग गया और वे बड़े-बड़े पहाड़ में तब्दील हो गए हैं।

Read more – फोटोग्राफी का शौक है तो मानसून में ये प्लेसेज आपका इंतज़ार कर रहे हैं

यहां के प्रमुख पर्यटक स्थलों रोहतांग दर्रे और सोलंग से मनाली शहर और इसके आसपास स्थित होटलों के नजदीक बहुतायत मात्रा में कचरा इकठ्ठा हुआ है। कचरे में ज्यादातर भाग प्लास्टिक युक्त मिला है। यहां के प्रशासन और नगरपालिका ने बढ़ते कचरे को देखते हुए इसके निस्तारण की योजना बनाई है। मनाली नगरपालिका के एक अधिकारी ने बताया कि हर दिन 100 टन कचरा जलाने की क्षमता वाला संयंत्र अगले कुछ दिनों में काम करना शुरू कर देगा।

इसके अलावा नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने मनाली और कुल्लू महापालिका को निर्देश दिए हैं कि कचरे को डिस्पोज किया जाए ताकि हिमाचल प्रदेश के पर्यावरण पर कोई प्रभाव ना पड़े।

COMMENT