दांतों के दर्द से लेकर कैंसर जैसी बीमारियों में फायदेमंद है लौंग का इस्तेमाल, जानें इसके फायदे

Views : 1551  |  0 minutes read
Benefits of Cloves

लौंग भले ही आकार में छोटी होती है, लेकिन गुणों की खान है। यह न केवल भारतीय मसालों और पूजन सामग्री में शामिल है बल्कि इसका इस्तेमाल प्राचीन काल से ही एक औषधि के रूप में भी किया जाता रहा है। इसके सेवन से सर्दी-खांसी में तो तुरंत फायदा मिलता है साथ ही मधुमेह और अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों में भी फायदेमंद है। लौंग, सदाबहार पेड़ की खुशबूदार सूखी पुष्प कलियां होती हैं।

लौंग और उसके तेल में एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल, एंटी-वायरल, एंटी-सेप्टिक, एंटी-इंफ्लेमेटरी और एनाल्जेसिक जैसे गुण प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। लौंग में 36 विभिन्न तत्व मौजूद होते हैं जिसमें से यूजनोल सबसे अधिक महत्वपूर्ण है। इसके अतिरिक्त इसमें सोडियम, फास्फोरस, लोहा, मैंगनीज, आहार फाइबर, आयोडीन, विटामिन के और सी, ओमेगा—3 फैटी एसिड आदि तत्व भी मौजूद होते हैं। इन औषधीय तत्वों के कारण यह हमारे शरीर को अनेक प्रकार की समस्याओं से बचाती है।

तो आइए जानते हैं इससे सेहत को होने वाले फायदों के बारे में

जुकाम और खांसी में फायदा

यदि आपको जुकाम और खांसी जैसी तकलीफ हो तो लौंग का इस्तेमाल से इन तकलीफों से निजात पाया जा सकता है। इसमें एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते है। इसके इस्तेमाल से जुकाम और खांसी से छुटकारा मिलता है।

दांत दर्द से राहत दिलाती है

कई बार दांतों में दर्द होने लगता है तो लौंग काफी फायदेमंद होती है। इसमें यूजनोल नामक तत्व पाया जाता है, इस कारण से लौंग दांतों के दर्द में राहत देता है।

डायबि​टीज में है लाभकारी

लौंग के इस्तेमाल से मधुमेह रोग को नियंत्रित किया जा सकता है। लौंग में विटामिन-के और आवश्यक लवण पाए जाते हैं। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण भी मौजूद रहता है। इसका रोजाना सेवन रक्त में शकर्रा की मात्रा को कम कर देता है।

मसूड़ों में सूजन की समस्या से निजात

लौंग और इसके तेल से मसूड़ों में सूजन की समस्या से निजात पाया जाता है। इसमें मौजूद यूजनोल नामक तत्व की इसे एंटीइंफ्लेमेटरी एंजेंट बनाता है। जो गले और मसूड़ों में होने वाली सूजन को ठीक करने में सहायक होता है। लौंग का एंटी इंफ्लेमेटरी गुण कैनडिडा फंगस से लड़ने में मदद करता है।

मुंह की दुर्गन्ध को दूर करती है

लौंग एक नेचुरल एंटीसेप्टिक है, जो दुर्गन्ध भरी सांस से निजात दिलाने में सहायक होती है। लौंग मुँह से आने वाली दुर्गन्ध भरी सांस के कारक जीवाणुओं को मार देता है। इसके अलावा वे जीभ, तालू और गले के ऊपरी भाग से बैक्टीरिया की सफाई में मदद करते हैं।

लौंग के औषधीय गुण बढ़ाएँ पाचन शक्ति

अक्सर हमें पाचन से संबंधित समस्याएं होती रहती है। इस प्रकार की समस्याओं से निजात पाने के लिए भी लौंग का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें मौजूद यूजनोल जैसे यौगिक पेट के अल्सर को कम करने में मदद करते हैं। इसमें मौजूद फाइबर पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में मदद करता है। कब्ज जैसी समस्याओं से राहत पाने के लिए आप लौंग का इस्तेमाल कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें- भिगोकर या सूखे, क्या है बादाम खाने का सही तरीका

रक्त शोधन में उपयोगी

लौंग रक्त शोधक के रूप में कार्य करता है और रक्त प्रवाह को बेहतर करता है । यह रक्त से विषाक्त पदार्थों को खत्म करने में भी मदद करता है और शरीर में एंटीऑक्सीडेंट स्तर को बढ़ाता है। एंटीऑक्सीडेंट गुण प्लेटलेट को शुद्ध करने के साथ-साथ प्रतिरक्षा प्रणाली को सुचारू रूप से चलाने में मदद करते हैं।

जोड़ों के दर्द में राहत

व्यक्ति की ज्यों—ज्यों उम्र बढ़ती है कई तरह की शारीरिक समस्याएं उत्पन्न होने लगती है, ऐसे में जोड़ों में दर्द सामान्य बात है। ऐसे लोग लौंग के इस्तेमाल से इस समस्या पर काफी हद तक निजात पा सकते हैं। क्योंकि इसमें एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं, जो इस समस्या में फायदा पहुंचाते हैं।

लौंग का इस्तेमाल उल्टी एवं जी-मचलाई के दौरान फायदेमंद है।

अस्थमा या दमा एक जानलेवा बीमारी है, जो व्यक्ति की श्वास नली को प्रभावित करती है। इसमें मरीज को सांस लेने में दिक्कत होती है और दौड़ने या ज्यादा चलने से सांस फूलने लगती है। इस रोग में इसका इस्तेमाल काफी हद तक फायदेमंद हो सकता है।

कैंसर जैसी घातक बीमारी में फायदेमंद

इसमें पाए जाने वाले तत्व शरीर को कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से लड़ने में मदद करते हैं। मेडिकल शोध के अनुसार इसके औषधीय गुण ट्यूमर को बढ़ने से रोकते हैं और कैंसर सेल्स को समाप्त करते हैं। लौंग एंटीऑक्सीडेंट का एक बड़ा स्रोत है, जो सूजन और कैंसर से हमारी रक्षा करता है।

लौंग आज के दौर मे बढ़ते तनाव जैसी समस्या से मुक्ति दिलाने में मददगार है।

COMMENT