तस्वीरें देखने के बाद आप भी छोड़ देंगे राजनीति पर बहस करना!

Views : 2070  |  0 minutes read

आज राजस्थान और मध्यप्रदेश को अपना अपना मुख्यमंत्री मिल ही गया। जहां सोमवार सुबह राजस्थान के मुख्यमंत्री के रूप में अशोक गहलोत ने शपथ ली तो वहीं दोपहर में मध्यप्रदेश को कमलनाथ के रूप में शपथ दिलाई गई। कांग्रेस ने दोनों जगह भव्य समारोह आयोजित किया जहां कांग्रेस के अलावा अन्य दलों के दिग्गज नेता भी कार्यक्रम में शामिल होने राजस्थान और मध्यप्रदेश पहुंचे। दोनों ही कार्यक्रमों में एक बात बेहद खास दिखी और वो ये कि आज से पहले एक दूसरे पर अनरर्गल और बेतुके बयान देने वाले भाजपा और कांग्रेस के नेता शपथ ग्रहण समारोह में गर्मजोशी के साथ मिले।

जयपुर के अल्बर्ट हॉल म्यूजियम के सामने आयोजित हुए समारोह में राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे शपथ लेने वाले अशोक गहलोत के साथ आराम से बतियाती नजर आई तो वहीं सचिन पायलट ने भी वसुंधरा राजे से हंसकर हाथ मिलाया। राजे ने गहलोत को ट्विटर पर बधाई दी जिसके बाद उन्होनें भी शिष्टाचार दिखाते हुए उनके ट्वीट का जवाब दिया वहीं पीएम मोदी ने भी गहलोत को ट्वीट के माध्यम से बधाई दी है।

 

इधर मध्यप्रदेश में कमलनाथ के शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंच पर जब पहुंचे तो कांग्रेस नेताओं ने उन्हें बीच में लाकर उनके दोनों हाथों को उठाते हुए जनता का अभिवादन किया। बता दें कि चुनावों से पहले ये लोग ही आरोप प्रत्यारोप की राजनीति करते आए थे जिसमें कई बार विवादित बयान भी दिए गए।

मध्यप्रदेश में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान कांग्रेस नेताओं के साथ मंच पर मौजूद पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान

अशोक गहलोत द्वारा वसुंधरा राजे पर की गई टिप्पणी काफी चर्चाओं में रही थी जिसमें गहलोत ने कहा था कि वसुंधरा राजे अमित शाह के आगे इतना क्यों झुकती है तो वहीं सचिन पायलट भी उन्हें बार बार ‘महारानी’ बोलकर संबोधित करते आए हैं। नेताओं के ऐसे बयान आने के बाद आम जनता भी दो गुटों में कभी कभी बंटती नजर आती है जहां वो अपना अपना नजरिया सोशल मीडिया के माध्यम से पेश करती है। तस्वीरें देखने के बाद लोगों को भारतीय राजनीति का असली चेहरा भी समझ लेना चाहिए कि कुर्सी के इस खेल में जब तक अपना मकसद पूरा नहीं हो जाता पार्टियों के लिए मान मर्यादा जैसे शब्द मायने नहीं रखते हैं और जब हार और जीत का फैसला हो जाता है उसके बाद राजनीति की ही जीत होती है जिसका सभी लोग जश्न मनाने एकसाथ मंच पर उतर आते हैं।

COMMENT