पुलवामा हमले की पहली बरसी, बोले मोदी- शहीदों का बलिदान कभी नहीं भूलेगा देश

Views : 752  |  3 minutes read

आज 14 फरवरी को पूरा देश पुलवामा हमले की पहली बरसी पर शहीदों को याद कर रहा है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट कर पिछले साल पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी है और कहा है कि भारत शहीदों का बलिदान कभी नहीं भूलेगा। दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल सहित अन्य मुख्यमंत्रियों व बडे राजनेताओं व सेलिब्रिटी ने भी शहीदों को याद किया है जबकि राहुल गांधी ने इस मामले में सरकार से तीन सवाल पूछे हैं।

पिछले साल हुआ था आत्मघाती हमला

गत साल 14 फरवरी 2019 के दिन जम्मू श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर पुलवामा ज़िले में सीआरपीएफ जवानों को ले जा रहे वाहनों के एक काफिले पर अचानक एक आत्मघाती हमला हुआ था। इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। इस घटना के बाद पूरे देशवासियों की आंखे नम हो गई और पाकिस्तान से बदले की मांग उठने लगी थी। इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान के इस्लामिक आतंकवादी समूह जैश ए मोहम्मद ने ली थी।

भारत ने हमले के 12 दिन बाद ही ले लिया बदला

इस हमले के बाद पूरे देश के गुस्साए लोगों ने मीडिया व सोशल मीडिया के माध्यम से मोदी सरकार से प्रमुखता से मांग रखी थी कि जल्दी ही इस घटना के जिम्मेदार आतंकवादियों को मार गिराया जाए। इस बडी घटना के 12 दिन बाद ही 26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने देर रात पाकिस्तान साीमा में घुसकर बालाकोट में एयरस्ट्राइक से बमों की वर्षा कर आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद कै ठिकानों को ध्वस्त कर बदला लिया था।

 

शहीदों को आज दी गई श्रद्धांजलि

इधर पुलवामा हमले की पहली बरसी पर आज शुक्रवार को श्रीनगर में सीआरपीएफ के लेथपोरा कैंप में शहीद 40 जवानों को स्मारक पर श्रद्धांजलि देकर याद किया गया। इस अवसर पर सीआरपीएफ महानिदेशक जुल्फिकार हसन ने मीडिया से बातचीत भी की।

Read More: पुलवामा अटैक के बदले का नाम था ‘ऑपरेशन बंदर’

उमेश गोपीनाथ जाधव ने इस तरह दी सच्ची श्रद्धांजलि

पुलवामा हमले की पहली बरसी पर श्रीनगर में सीआरपीएफ के लेथपोरा कैंप में आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम में बेंगलुरु निवासी उमेश गोपीनाथ जाधव को मुख्य रूप से आमंत्रित किया गया। उमेश इस हमले के बाद करीब 61 हजार किलोमीटर ​का सफर कर सभी शहीद जवानों के घर पहुंचे ​थे और वहां से मिट्टी एकत्रित कर लाए थे। शहीदों को इस तरह श्रद्धांजलि देने के तरीके पर देशवासी जाधव को भी सलाम कर रहे हैं।

राहुल गांधी ने पूछे ये सवाल

इधर इस दिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर शहीदों को श्रद्धांजलि तो दी लेकिन इस मामले में सरकार से तीन सवाल भी पूछे हैं कि पुलवामा आतंकी हमले से किसे सबसे ज्यादा फायदा हुआ,पुलवामा आतंकी हमले को लेकर हुई जांच से क्या निकला और सुरक्षा में चूक के लिए मोदी सरकार में किसकी जवाबदेही तय हुई। राहुल के इन सवालों पर भाजपा नेताओं ने हमला बोला है और आज के दिन इस तरह के सवाल करने को शर्मनाक बताया है।

 

 

 

COMMENT