विल जैक्स ने मात्र 25 गेंदों में शतक ठोका, एक ओवर में जड़े छह सिक्स

Views : 1885  |  0 minutes read
chaltapurza.com

क्रिकेट की दुनिया में हर मैच के साथ कई रिकॉर्ड टूटते-बनते रहते हैं। इस दौरान कई बार ऐसे रिकॉर्ड बन जाते हैं जो क्रिकेट के इतिहास में हमेशा के लिए दर्ज हो जाते हैं। वैसे तो इस खेल में कुछ भी रिकॉर्ड बन सकता है लेकिन, कई बार ऐसे रिकॉर्ड बन जाते हैं जिनके टूटने की कल्पना करना भी आसान नहीं लगता। जबसे क्रिकेट में टी-20, टी-10 जैसे नए फॉर्मेट आए हैं तब से इस खेल में तेजी के साथ कई नए रिकॉर्ड बनते जा रहे हैं। टी-20 क्रिकेट के सबसे लोकप्रिय फॉर्मेट आईपीएल की शुरुआत से ठीक पहले एक ऐसा ही रिकॉर्ड बना है जिसकी कल्पना करना बिलकुल भी आसान नहीं हैं। इंग्लैंड के एक खिलाड़ी विल जैक्स ने सबसे कम गेंदों में शतक ठोकते हुए क्रिकेट इतिहास में अपना नाम दर्ज करा दिया है।

chaltapurza.com

सरे काउंटी के जैक्स ने जड़ा सबसे तूफानी शतक

दरअसल, इंग्लैंड की सरे काउंटी क्लब के विल जैक्स ने घरेलू सीजन की शुरुआत से पहले शानदार खेल दिखाया है। विल जैक्स ने मात्र 25 गेंदों का सामना करते हुए ताबड़तोड़ शतक जड़ दिया है। उन्होंने लंकाशायर के ख़िलाफ़ यह जबरदस्त पारी खेली है। जैक्स द्वारा बनाया गया यह शतक प्रोफेशनल क्रिकेट में किसी इंग्लिश बल्लेबाज द्वारा लगाया गया सबसे तेज शतक माना जा रहा है। जैक्स ने अपनी इस तूफानी पारी के दौरान लंकाशायर के किसी भी गेंदबाज को नहीं बख़्शा और 11 छक्के जड़ने के साथ ही आठ शानदार चौके भी लगाए। यूएई के दुबई में खेले जा रही टी-10 त्रिकोणीय सीरीज में उन्होंने यह पारी खेली। गौरतलब है कि इस टूर्नामेंट में तीसरी टीम आईसीसी अकादमी है।

chaltapurza.com

14 गेंद में पूरा किया अर्धशतक, अगला पचासा मात्र 11 गेंदों में जड़ा

विल जैक्स ने इस मैच में अपना पहला अर्धशतक 14 गेंद में ही पूरा कर लिया था। इसके बाद वे 62 रन से 98 रन के स्कोर पर एक ही ओवर में पहुंच गए। इस दौरान जैक्स ने लंकाशायर के गेंदबाज स्टीफन पैरी के एक ओवर में लगातार छह छक्के जड़े। उल्लेखनीय है कि लेफ्ट आर्म बॉलर स्टीफन पैरी इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिए वनडे और टी-20 इंटरनेशनल क्रिकेट में खेल चुके हैं। विल जैक्स ने इस पारी के साथ ही टी-10 क्रिकेट में एलेक्स हेल्स के सर्वोच्च स्कोर 87 रन को पीछे छोड़ दिया है। हेल्स ने पिछले साल दिसम्बर में यह पारी खेली थी। जैक्स ने 30 गेंदों पर 105 रनों की नाबाद पारी खेली। उनकी इस शानदार पारी की बदलौत सरे ने यह मुकाबला बड़े अंतर से जीता।

chaltapurza.com
सरे ने लंकाशायर को 95 रनों से हराया, गैरेथ बैटी को मिले चार विकेट

20 वर्षीय विल जैक्स के शतक की बदौलत सरे ने 10 ओवर में तीन विकेट के नुकसान पर 176 रन का स्कोर खड़ा किया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी लंकाशायर की टीम 10 ओवर में नौ विकेट पर 91 रन ही बना सकी। सरे ने यह मुकाबला 95 रन से अपने नाम कर लिया। सरे की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले गैरेथ बैटी ने 21 रन देकर चार विकेट अपने नाम किए। इस शानदार प्रदर्शन की बदौलत उन्होंने लंकाशायर को करारी हार के लिए मज़बूर कर दिया। इस पारी के बाद जैक्स ने कहा, मैं जब 98 रन पर था, तब भी मुझे यकीन नहीं था कि शतक बना लूंगा। हम इस प्रारूप के औसत स्कोर 120-130 तक पहुंचना चाह रहे थे। यह इतनी जल्दी हो गया कि पता ही नहीं चल पाया।

त्रिकोणीय सीरीज के इस मैच को आईसीसी से नहीं मिलीं मान्यता

दुबई में खेली जा रही त्रिकोणीय सीरीज के इस मैच को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से मान्यता नहीं मिली थी। इस सीरीज को अगर मान्यता मिली होती तो जैक्स क्रिकेट के सभी प्रारूपों में सबसे तेज शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज बन जाते। फिलहाल यह रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के क्रिस गेल के नाम है। आईपीएल-2013 में गेल ने मात्र 30 गेंद पर शतक लगाया था।

Read More: नरेन्द्र मोदी दूसरी सीट पर पुरी से लड़ सकते हैं चुनाव, इसके पीछे की वजह जान लीजिये?

उल्लेखनीय है कि इंग्लिश क्रिकेटर विल जैक्स ने फरवरी में इंग्लैंड लायंस की ओर से खेलते हुए भारत ए के खिलाफ अनधिकृत टेस्ट मैच में 63 रनों की गज़ब पारी खेली थी। जैक्स ने सरे के आधिकारिक टि्वटर हैंडल पर बताया, ‘लोग बात कर रहे थे कि यहां पर 120-130 रनों का स्कोर औसत रहता है तो मैं सिर्फ बल्लेबाजी का लुत्फ उठाना चाहता था।’ उन्होंने कहा कि 98 रन के स्कोर पर पहुंचने के बाद ही मैंने शतक लगाने के बारे में सोचना शुरू किया। यह सब बहुत जल्दी में हुआ था।’

COMMENT