वनडे में दोहरा शतक लगाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर हैं स्मृति मंधाना

Views : 5304  |  4 minutes read
Smriti-Mandhana-Biography

टीम इंडिया की सलामी बल्लेबाज और वनडे में दुनिया की नंबर एक महिला बल्लेबाज रह चुकी स्मृति मंधाना आज अपना 26वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही है। उनका जन्म 18 जुलाई, 1996 को महाराष्ट्र के मुंबई में हुआ। स्मृति के पिता का नाम श्रीनिवास मंधाना और माता का नाम स्मिता है। जब वह दो वर्ष की थी, उसका परिवार महाराष्ट्र में सांगली जिले के माधवनगर आ गया था। यहीं उनकी स्कूली शिक्षा पूरी हुई। लेडी तेंदुलकर या लेडी सहवाग के नाम से मशहूर स्मृति मंधाना के जन्मदिन के अवसर पर जानते हैं उनके बारे में कुछ रोचक बातें..

chaltapurza.com

पिता और भाई खेल चुके हैं जिला स्तर पर क्रिकेट

स्मृति मंधाना के पिता श्रीनिवास और भाई श्रवण मंधाना जिला स्तर पर सांगली के लिए क्रिकेट खेल चुके हैं। अपने भाई को महाराष्ट्र की अंडर-16 क्रिकेट टीम में खेलते देख उनका क्रिकेट के प्रति लगाव पैदा हुआ। फिर स्मृति कभी रूकी नहीं, 9 साल की उम्र में महाराष्ट्र की अंडर-15 और 11 वर्ष की उम्र में अंडर-19 टीम में जगह बना ली। स्मृति जब अपने घर पर होती है तो भाई श्रवण के साथ नेट में प्रैक्टिस करती है। उसे पहला ब्रेकथ्रू अक्टूबर 2013 में मिला, जब स्मृति एकदिवसीय मैच में दोहरा शतक लगाने वाली पहली भारतीय महिला बनीं। इस मैच में उन्होंने महाराष्ट्र की ओर से खेलते हुए गुजरात के ख़िलाफ़ वेस्ट जोन अंडर-19 टूर्नामेंट में 150 गेदों पर 224 रन जड़े थे।

chaltapurza.com

इंग्लैंड के ख़िलाफ़ टेस्ट और ऑस्ट्रेलिया के सामने वनडे कॅरियर की शुरुआत

स्मृति मंधाना ने अपने अंतर्राष्ट्रीय कॅरियर की शुरुआत इंग्लैंड के ख़िलाफ़ वर्ष 2014 में टेस्ट क्रिकेट से शुरु की। अपने पहले ही मैच में उन्होंने 22 और 51 रन की पारियां खेलते हुए टीम को मैच जीताने में अहम भूमिका निभाई। स्मृति के वनडे कॅरियर की शुरुआत वर्ष 2016 में इंडिया टीम के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हुई। होबार्ट शहर स्थित बैलेरीव ओवल स्टेडियम में खेले मैच में स्मृति ने 109 गेंद खेलते हुए 102 की पारी के साथ अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय शतक लगाया। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और लगातार अपने प्रदर्शन के दम पर भारतीय टीम को नई ऊंचाईयों पर ले जाने में स्मृति मंधाना अहम भूमिका निभा रही है।

ऐसा रहा है अब तक स्मृति मंधाना का क्रिकेट कॅरियर

भारतीय ओपनर स्मृति मंधाना अब तक दो टेस्ट मैच 51 एकदिवसीय और 75 टी-20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल चुकी हैं। एकदिवसीय में स्मृति अब तक 2025 रन अपने नाम कर चुकी है। इसमें चार शतक और 17 अर्धशतक शामिल हैं।उन्होंने वनडे में 43.08 के औसत से रन बनाए हैं। उनका सर्वोच्च स्कोर 135 रन है। अब तक खेले दो टेस्ट मैच में स्मृति ने एक अर्धशतक के साथ कुल 81 रन बनाए हैं। वहीं, अगर टी-20 अंतर्राष्ट्रीय की बात करें तो 73 पारियों में उन्होंने 1716 रन बनाए हैं, जिसमें उनकी 12 हाफ सेंचुरी है और सर्वोच्च स्कोर 86 रन है। स्मृति मंधाना के बारे में दिलचस्प बात बता दें कि घरेलू क्रिकेट में 224 रन की पारी खेलने पर राहुल द्रविड़ ने उन्हें बैट गिफ्ट किया था। स्मृति के फेवरेट क्रिकेटर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ओपनर मैथ्यू हेडन है।

chaltapurza.com

वर्ष 2018 के ‘अर्जुन अवॉर्ड’ से सम्मानित हो चुकी स्मृति 

मारवाड़ी परिवार से ताल्लुक रखने वाली स्मृति मंधाना को हाल में उनके शानदार प्रदर्शन के दम पर केन्द्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू ने वर्ष 2018 के ‘अर्जुन अवार्ड’ पुरस्कार से सम्मानित किया है। बता दें, स्मृति मंधाना क्रिकेट के साथ ही खाना बनाने की बेहद शौकीन हैं। समय मिलने पर अपने घर में वह कई बार खुद खाना पकाती है।

स्मृति मंधाना सोशल मीडिया पर भी बहुत एक्टिव है।  वह भारत की सबसे युवा टी-20 कप्तान हैं। मार्च में इंग्लैंड के साथ हुए टी-20 मैच में उन्होंने पहली बार कप्तानी की थी। उल्लेखनीय है कि स्मृति को साल 2019 में आईसीसी ने साल की सबसे अच्छी वनडे खिलाड़ी और साल की सबसे अच्छी क्रिकेटर चुना।

Read Also: खराब व्यवहार की वजह से बिना खिलाए टीम से बाहर कर दिए गए थे सौरव गांगुली

COMMENT