स्मृति मंधाना बनी भारत की सबसे युवा टी-20 कप्तान, अब निगाहें विश्व कप पर

Views : 1153  |  0 minutes read

भारतीय महिला क्रिकेट में स्मृति मंधाना अपनी शानदार फॉर्म के चलते आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर हैं। उन्हें भारतीय महिला टी—20 क्रिकेट टीम की कप्तानी सौंपी गई, जिसके साथ ही उनके क्रिकेट करियर में एक और उपलब्धि जुड़ गई।

साथ ही उन्होंने अपने इरादे साफ कर दिए हैं। उनका मानना है कि रैंकिंग में शीर्ष स्थान पाना छोटी कामयाबी है। उनके लिए सबसे बड़ी कामयाबी वर्ल्ड कप जीतना होगा।

भारतीय टी—20 क्रिकेट के इतिहास में सबसे कम उम्र में बनी कप्तान

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही तीन मैचों की टी-20 सीरीज के पहले मैच में टॉस के लिए उतरते ही स्मृति मंधाना के नाम यह बड़ी उपलब्धि हासिल कर ली। मंधाना भारतीय टी—20 क्रिकेट में सबसे कम उम्र में कप्तान बनने वाली खिलाड़ी है। वे इस मामले में भारतीय पुरुष टीम के टी—20 कप्तानों में सबसे कम उम्र की भारतीय कप्तान बनी जो एक रिकॉर्ड है। मंधाना ने 22 साल 229 दिन की उम्र में टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में भारतीय महिला टीम की कप्तानी संभाली।

वैसे तो भारतीय महिला क्रिकेट टीम की नियमित कप्तान हरमनप्रीत है लेकिन उनके चोटिल होने के कारण मंधाना को चयनकर्ताओं ने इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज के लिए टीम का कप्तान बनाया है।

यह भी पढ़े — ‘लेडी विराट’ के नाम से जानी जाती है यह क्रिकेट खिलाड़ी…

बात चाहे भारतीय पुरुष टी—20 क्रिकेट टीम की हो या महिला टी—20 क्रिकेट टीम की सबसे कम उम्र के टी—20 कप्तान का भारतीय रिकॉर्ड मंधाना से पहले सुरेश रैना के नाम था, जो मात्र 23 साल 197 दिन की उम्र में टी-20 इंटरनेशनल में टीम इंडिया के कप्तान (2010 में) बने थे। उनके बाद महिलाओं में हरमनप्रीत कौर ने 23 साल 237 दिन की उम्र में टी-20 इंटरनेशनल में भारतीय टीम की कमान संभाली थी।

सबसे कम उम्र में भारतीय टी—20 क्रिकेट टीम के कप्तान (महिला/पुरुष)

22 साल 229 दिन – स्मृति मंधाना

23 साल 197 दिन – सुरेश रैना

23y साल 237 दिन – हरमनप्रीत कौर

स्मृति के लिए सबसे बड़ी कामयाबी विश्व कप जीतना

शानदार फार्म में चल रही स्मृति पिछले महीने आईसीसी महिला रैंकिंग में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी बनी थी। उन्होंने कहा, ‘एक बल्लेबाज के रूप में सबसे महत्वपूर्ण आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल करना है। निश्चित तौर पर यह मेरे लिए छोटे लक्ष्यों में से एक है लेकिन निश्चित तौर पर मेरा बड़ा लक्ष्य विश्व कप जीतना है।’

नवनिर्वाचित भारतीय महिला क्रिकेट टीम टी-20 कप्तान स्मृति मंधाना की बातों से साफ नजर आता है कि उनकी टीम की निगाहें 2019 के विश्व कप पर टिकी हुई हैं।

भारत और इंग्लैंड के बीच चल रही तीन मैचों की टी-20 सीरीज शुरू होने से पहले मंधाना ने कहा कि इस सीरीज में विश्व कप के लिए भी नए चेहरों को मौका दिया जाएगा।

सलामी बल्लेबाजी स्मृति मंधाना को इंग्लैंड के खिलाफ तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भारतीय टीम की कप्तानी मिली है। नियमित कप्तान हरमनप्रीत कौर के बाहर होने की वजह से उन्हें यह मौका मिला। हरमनप्रीत टखने की चोट लगने की वजह से इंग्लैंड के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज में भी नहीं खेल पाई थीं।

मंधाना ने कहा कि उन्होंने पहले ही टी-20 विश्व कप के लिए तैयारियां शुरू कर दी है और अगले छह से आठ महीने में टीम के संयोजन को लेकर काफी कुछ तय हो जाएगा। महिला टी-20 विश्व कप का आयोजन ऑस्ट्रेलिया में अगले साल 21 फरवरी से आठ मार्च तक किया जाएगा।

कप्तान ने कहा, ‘मैंने और रमन सर (कोच डब्ल्यूवी रमन) ने उन चीजों पर बात की जिनकी कमी न्यू जीलैंड दौरे पर खली। इसलिए यह काफी रोमांचक समय है क्योंकि हमारे पास इतनी युवा टीम है। हमें यह देखने के लिए छह से आठ महीने इंतजार करना होगा कि सभी खिलाड़ी कहां हैं।’

COMMENT