फिल्मों में काम पाने के लिए इंग्लैंड में एक स्टूडियो के चक्कर लगाया करती थीं सिमी ग्रेवाल

Views : 3171  |  4 minutes read
Simi-Garewal-Biography

हिंदी सिनेमा में ऐसी कई दिग्गज अभिनेत्रियां हैं, जिन्होंने ना सिर्फ अपनी दिलकश अदाओं से दर्शकों का दिल जीता बल्कि अपनी दमदार अदायगी से सिने पर्दे पर कई दशकों तक अपनी धाक जमाई। इन्हीं में से एक सदाबहार अभिनेत्री है सिमी ग्रेवाल। सिमी आज अपना 73वां जन्मदिन मना रही हैं। जब भी हमारे सामने फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ का जिक्र होता है, हमारे जहन में इस उम्दा अभिनेत्री की तस्वीर सामने आ जाती है। भले ही यह बॉलीवुड की मल्टीस्टारर फिल्म थी, मगर इस फिल्म में सिमी के किरदार ने दर्शकों के बीच उनकी एक अलग छाप छोड़ी। ऐसे में वेटरन एक्ट्रेस सिमी ग्रेवाल के बर्थडे के मौके पर जानते हैं उनके जीवन से जुड़ी ख़ास बातें..

सिमी की इंग्लैंड में हुई थी पढ़ाई-लिखाई

सिमी ग्रेवाल का जन्म 17 अक्टूबर, 1947 को पंजाब के लुधियाना में एक सिख जाट परिवार में हुआ था। जन्म के कुछ समय बाद ही सिमी का परिवार इंग्लैंड जाकर बस गया। उनकी पढ़ाई लिखाई भी इंग्लैंड में हुई। सिमी का झुकाव शुरुआत से ही ग्लैमर की दुनिया की तरफ था। फिल्मों में काम पाने की तलाश में वह अक्सर इंग्लैंड के ट्विकेंथम स्टूडियो के चक्कर लगाया करती थीं। सिमी ने जल्द ही यह महसूस कर लिया कि किया ब्रिटिश फिल्म इंडस्ट्री में काम मिलना आसान नहीं है, इसलिए उन्होंने फिर बॉलीवुड में अपनी किस्मत आजमाने का फैसला किया और मुंबई आ गईं।

एक्ट्रेस बनने के लिए 15 साल की उम्र में मुंबई आई सिमी

अपने शौक को पूरा करने के लिए सिमी महज 15 साल की उम्र में अपनी बहन और मां के साथ मुंबई आ गई। जल्द ही, सिमी ने महसूस किया कि बॉलीवुड में किसी भी अवसर को पाने के लिए पूरी तरह से बदलना होगा। मगर बॉलीवुड में उनकी राह आसान नहीं थी। वेस्टर्न कल्चर, और उच्चारण के कारण बॉलीवुड में काम पाने में बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ा। जल्द ही सिमी ने महसूस किया कि बॉलीवुड में किसी भी अवसर को पाने के लिए उन्हें पूरी तरह से बदलना होगा।

इस फिल्म से की एक्टिंग कॅरियर की शुरुआत

सिमी को साल 1962 में बॉलीवुड की एडवेंचर फिल्म ‘टार्जन गोज टू इंडिया’ में काम करने का अवसर मिला। इस फिल्म में वह फिरोज खान के अपोजिट नजर आईँ। सिमी को यह फिल्म उनकी अंग्रेजी में अच्छी पकड़ होने के कारण मिली थी।

सिमी के कॅरियर में टर्निंग पॉइंट साबित हुई यह फिल्म

सिमी के कॅरियर में साल 1970 काफी महत्वपूर्ण साल रहा। इस साल उनकी राज कपूर के साथ फिल्म ‘मेरा नाम जोकर’ आई। जिसमें उन्होंने एक ग्लैमरस टीचर मिस मैरी की भूमिका निभाई। उस दौर में फिल्म में उनका बोल्ड अवतार बेहद दुर्लभ था जिसकी वजह से वे जबरदस्त सुर्खियों में रही। मगर सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म को कट के साथ रिलीज किया।

न्यूड सीन देकर बॉलीवुड में मचाई थी खलबली

साल 1972 में सिमी की फिल्म ‘सिद्धार्थ’ रिलीज हुई। सिमी की इस फिल्म ने बॉलीवुड में तहलका मचा दिया था। दरअसल उस दौर में फिल्मों में मर्यादा का ध्यान रखा जाता है। अभिनेत्रियां जहां पर्दे पर साड़ी में अपने शरीर को ढके हुए नजर आती थी सिमी ने उस दौर में न्यूड सीन देकर खलबली मचा दी थी। उस दौर में सिमी को बेहद बोल्ड एक्ट्रेस कहा जाता था। यही नहीं बॉलीवुड में बोल्ड सीन की शुरुआत भी सिमी ने ही की थी।

छोटे पर्दे पर सुपहिट रहे सिमी के टॉक शो

सिमी ना सिर्फ फिल्मी पर्दे पर बल्कि छोटे पर्दे पर भी काफी हिट रहीं थी। उन्होंने छोटे पर्दे के कई शो होस्ट किए। जिनमें ‘Rendezvous with Simi Garewal’ काफी पॉपुलर रहा। इस शो में बॉलीवुड के कई सितारों ने अपनी जिंदगी से जुड़े कई राज खोले थे।

Read More: ‘ड्रीमगर्ल’ हेमा मालिनी का अभिनेत्री से सांसद बनने तक का ऐसा रहा सफ़र

COMMENT