गुजरात के जामनगर में दुनिया का सबसे बड़ा चिड़ियाघर बनाएगी रिलायंस कंपनी

Views : 1504  |  3 minutes read
Reliance-Zoo-Jamnagar

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड यानि आरआईएल गुजरात में दुनिया का सबसे बड़ा चिड़ियाघर बनाने जा रही है। जानकारी के अनुसार, एशिया के सबसे अमीर उद्योगपति मुकेश अंबानी की कंपनी RIL गुजरात के जामनगर में एक चिड़ियाघर का निर्माण करेगी। कंपनी के एक उच्च अधिकारी ने हाल में ही इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि इस चिड़ियाघर में देखने के लिए भारत और दुनियाभर के जानवरों, पक्षियों और सांपों की अलग-अलग प्रजातियां आकर्षण का केंद्र होंगी।

मुकेश के छोटे बेटे अनंत अंबानी का ड्रीम प्रोजेक्ट है जू

जानकारी के अनुसार, दुनिया के सबसे बड़े चिड़ियाघर का निर्माण मुकेश अंबानी के छोटे बेटे अनंत अंबानी का ड्रीम प्रोजेक्ट है। यह लगभग 280 एकड़ भूमि पर बनेगा, जो गुजरात के जामनगर में मोती खावडी स्थित कंपनी के रिफाइनरी प्रोजेक्ट के पास होगा। आपको जानकारी के लिए बता दें कि रिलायंस का रिफाइनिंग प्रोजेक्ट भी दुनिया का सबसे बड़ा कॉम्पलेक्स है।

ख़बरों के मुताबिक, यदि सबकुछ ठीक रहा तो यह चिड़ियाघर अगले साल आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। हालांकि, वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण इस प्रोजेक्ट में पहले ही काफी देरी हो चुकी है। आरआईएल के निदेशक (कॉरपोरेट मामले) परिमल नथवानी ने बताया कि नए चिड़ियाघर को ‘ग्रीन्स जूलॉजिकल, रेस्क्यू एंड रिहैबिलिटेशन किंगडम’ के नाम से जाना जाएगा। उन्होंने कहा कि इस चिड़ियाघर के लिए केंद्र और राज्य सरकार से पहले ही संबंधित मंजूरी ले ली गई है।

जू में दुनियाभर के जानवरों की कई प्रजातियां देखने को मिलेंगी

आरआईएल द्वारा बनवाए जा रहे इस चिड़ियाघर में कई तरह के सेक्शन होंगे। इसमें फॉरेस्ट ऑफ इंडिया, फ्रॉग हाउस, इंसेक्ट लाइफ, ड्रैगन लैंड और वाइल्ड ट्रेल ऑफ गुजरात आदि सेक्शन होंगे। इसमें बार्किंग हिरण, दुर्लभ पतले बंदर, आलसी भालू, मछलियों का शिकार करने वाली बिल्लियां, कोमोडो ड्रैगन, भारतीय भेड़ें और अन्य जानवरों की प्रजातियां होंगी। इसके अलावा चिड़ियाघर में 12 शतुरमुर्ग, 20 जिराफ, 18 अफ्रीकी नेवले, 10 मगरमच्छ की प्रजाति, सात चीते, अफ्रीकी हाथी और नौ ग्रेट इंडियन बस्टर्ड होंगे। इसी तरह फ्रॉग हाउस में पानी और जमीन पर रहने वाले 200 जीव, अलग-अलग तरह की 300 मछलियां होंगी। आपको बता दें कि ये जानकारी केंद्रीय चिड़ियाघर की वेबसाइट पर दी गई है।

Read More: स्थायी कर्मचारियों को अनुबंध पर नहीं बदल सकती कंपनियां: केंद्र सरकार

COMMENT