राजस्थान बजट: शनिवार को ‘नो बैग डे’ व 53 हजार पदों पर भर्ती की घोषणा

Views : 3835  |  3 minutes read

राजस्थान सरकार का वर्ष 2020-21 का बजट गुरूवार को पेश हो चुका है। सीएम अशोक गहलोत ने राज्य विधानसभा में अपने कार्यकाल का यह दूसरा बजट पेश किया। इसमें करीब 53 हजार पदों पर भर्ती व स्कूलों में शनिवार को ‘नो बैग डे’ जैसी घोषणाएं की गई हैं। बजट में किसको क्या मिला जाने इस बारे में-

राज्य बजट में ये रही प्रमुख घोषणाएं

  • जानकारी के मुताबिक बजट में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य के लिए करीब 14 हजार 533 करोड़ 37 लाख का प्रावधान किया है।
  • बजट में 15 नए मेडिकल कॉलेजों की भी घोषणा की गई है ​और अगले साल तक आम जनता का डिजिटल हेल्थ सर्वे की भी घोषणा की बात कही गई है।
  • कृषि क्षेत्र के लिए करीब तीन हजार चार सौ बीस करोड़ रूपये का प्रावधान भी किया गया है।
  • सीएम गहलोत ने इस बजट में आर्थिक पिछड़ा वर्ग बोर्ड के गठन की भी घोषणा की है।
  • बजट में खिलाडियों के लिए भी बडी घोषणा की गई है और एशियन गेम्स में गोल्ड जीतने पर 3 करोड़, रजत पर 2 करोड़ तो कांस्य पदक लाने पर पर 1 करोड़ की राशि दिए जाने की घोषणा की गई है।
  • बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए सरकारी स्कूलों में अब हर शनिवार को नो बैग डे की घोषणा की गई है। इस दिन स्कूलों में पढाई के अलावा अन्य गतिविधियों पर ध्यान दिया जाएगा।
  • बजट में सरकारी कर्मचारियों के मंहगाई भत्ते को 5 प्रतिशत बढाकर 12 प्रतिशत से 17 प्रतिशत कर दिया है।
  • राज्य में महिला सशक्तिकरण के लिए इस बजट में करीब 100 करोड़ की घोषणा भी की गई है।
  • जोधपुर में इंटरनेशल स्तर के खेल आयोजनों के लिए विशाल व आधुनिक ऑडिटोरियम बनाने की भी घोषणा की गई है।
  • राज्य में आंगनवाड़ी वर्कर, आशा सहयोगिनी व एएनएम के लिए अलग एप्प तो बच्चों, गर्भवती महिलाओं के लिए करीब 800 करोड़ रुपए पोषाहार के लिए बजट में निर्धारित किए गए हैं।
  • इसके अलावा राज्य में हर साल करीब 10 हजार युवाओं को आजीविका विकास निगम और राजस्थान स्किल यूनिवर्सिटी द्वारा कौशल विकास की ट्रेनिंग भी दिए जाने की घोषणा की गई है।

Read More: राजस्थान में नई बाइक खरीदने पर अब मिलेगा मुफ्त हेलमेट

संतुलित बजट

कुल मिलाकर इस बार का राज्य बजट संतुलित कहा जा रहा है और कोई बडी घोषणा करने की बजाय सभी वर्गों को संतुष्ट करने की कोशिश इस बजट में की गई है। वहीं विपक्षी भाजपा ने इस बजट को लुभावना व कोरा बजट बताया है।

 

 

COMMENT