जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग नहीं लेंगे पीएम मोदी, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने किया था आमंत्रित

Views : 1121  |  3 minutes read
PM-Narendra-Modi

देश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर में बढ़ते संक्रमण के मामले को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्रिटेन में होने वाले जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग नहीं लेंगे। इस बारे में भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने जानकारी दी। प्रवक्ता ने कहा कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन द्वारा पीएम मोदी को जी-7 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रण की हम सराहना करते हैं। लेकिन देश में जिस तरह से कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं, ऐसी स्थिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस बैठक में भाग नहीं ले पाएंगे। आपको बता दें कि भारत में कोरोना की दूसरी लहर में रोजाना संक्रमण के करीब 4 लाख मामले सामने आ रहे हैं। इस बार मौतों की संख्या भी बढ़ गई है।

11 से 13 जून के बीच कोर्नवाल में होनी है G-7 बैठक

विदेश मंत्रालय ने कहा कि पीएम मोदी ‘ग्रुप ऑफ सेवन’ (जी-7) देशों के शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने अगले महीने ब्रिटेन के दौरे पर नहीं जाएंगे। मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 की ताजा स्थिति को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। जी-7 देशों की यह बैठक 11 से 13 जून के बीच कोर्नवाल में आयोजित होने वाली है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि जी-7 शिखर सम्मेलन में बतौर विशेष अतिथि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित करने के लिए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का आभार जताते हैं, लेकिन कोविड-19 की मौजूदा स्थिति को देखते हुए फैसला हुआ है कि वह इस सम्मेलन में स्वयं उपस्थित नहीं रहेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी का लगातार दूसरा विदेश दौरा रद्द हुआ

उल्लेखनीय है कि ‘ग्रुप ऑफ सेवन’ यानि जी-7 में कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, अमेरिका और ब्रिटेन के साथ ही यूरोपीय संघ है। जी-7 समूह की अध्यक्षता कर रहे ब्रिटेन ने भारत, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण कोरिया और दक्षिण अफ्रीका को इस सम्मेलन में आमंत्रित किया है। बता दें कि हाल के दिनों में पीएम मोदी का यह दूसरा विदेश दौरा रद्द हुआ है। इससे पहले विदेश मंत्रालय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पुर्तगाल दौरे के रद्द होने की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री को भारत-यूरोपीय संघ के शिखर सम्मेलन में शामिल होना था। यह सम्मेलन डिजिटल माध्यम से हुआ था। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को भी पिछले दिनों भारत में कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए अपना दौरा रद्द करना पड़ा था। हालांकि, इसके बाद 4 मई को पीएम मोदी और बोरिस जॉनसन ने डिजिटल माध्यम से बैठक कर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की थी।

Read More: नेपाल संसद में विश्वास मत साबित नहीं कर पाए पीएम केपी शर्मा ओली

COMMENT