भारत में 1 अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को लगेगा कोरोना टीका

Views : 695  |  3 minutes read
Corona-Vaccination-India

कोरोना वायरस संक्रमण के एक बार फिर बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार की ओर से अच्छी ख़बर आई है। दरअसल, देश में 1 अप्रैल से 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को कोरोना टीका लगाया जाएगा। पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में टीकाकरण का दायरा बढ़ाने का फैसला किया गया। बता दें, इससे पहले 45 वर्ष से अधिक आयु के गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोग ही टीका लगवाने के पात्र थे। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि कोरोना मामलों पर बनी टास्क फोर्स और विशेषज्ञों की राय के बाद यह फैसला किया गया कि 1 अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोग टीका लगवाने के पात्र होंगे। हम सभी लोगों से अनुरोध करते हैं कि तत्काल पंजीकरण कराएं और टीका लगवाएं।

देश में अब तक 4.85 करोड़ लोगों को लगा टीका

केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा कि कोरोना टीकाकरण अभियान में तेजी आ रही है और अब तक देश में 4.85 करोड़ लोगों को टीका लग चुका है। इनमें से करीब 80 लाख लोगों को टीके की दूसरी खुराक भी दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि देश में टीके पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है और इसकी कोई कमी नहीं है। मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि मुझे यकीन है कि हर कोई इस फैसले का स्वागत करेगा और टीका लगवाने आगे आएगा।

बता दें कि देश में टीकाकरण की शुरुआत 16 जनवरी को स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाने से हुई थी। इसके बाद 2 फरवरी को अग्रिम मोर्चे पर तैनात कर्मचारियों को और 1 मार्च से 60 साल से अधिक आयु वालों और गंभीर बीमारियों से जूझ रहे 45 साल व उससे अधिक उम्र के लोगों को टीका लगना शुरू हुआ था।

गृह मंत्रालय ने आरटी-पीसीआर जांच बढ़ाने के दिए निर्देश

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार को सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को आरटी-पीसीआर टेस्ट बढ़ाने, टेस्ट, ट्रैक व ट्रीट के प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करने और प्राथमिकता वाले समूह के टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। गृह मंत्रालय ने अप्रैल के लिए दिशा-निर्देश जारी करते हुए कहा, ‘नए कोरोना संक्रमण मरीजों का पता चलने पर उन्हें जल्द से जल्द आइसोलेट या क्वारंटीन किया जाए और समय पर उपचार दिया जाए। संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आने वालों भी जल्द पता लगाया जाए।’

Read More: स्वदेशी कोवाक्सिन टीका लगवाने के लिए सहमति पत्र भरने की नहीं होगी जरूरत

COMMENT