बर्थडे स्पेशल: विश्व स्तर पर स्नूकर और बिलियर्ड्स खेलने वाले दुनिया के एकमात्र खिलाड़ी हैं पंकज आडवाणी

Views : 2650  |  4 minutes read
chaltapurza.com

बिलियर्ड्स और स्नूकर विश्व चैंपियन भारतीय खिलाड़ी पंकज आडवाणी आज अपना 35वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं। उनका जन्म आज ही के दिन यानि 24 जुलाई, 1985 को महाराष्ट्र राज्य के पुणे शहर में हुआ। पंकज का पूरा नाम पंकज अर्जन आडवाणी है और उन्हें ‘द प्रिंस ऑफ इंडिया, द गोल्डन बॉय और द प्रिंस ऑफ पुणे’ जैसे उपनामों से भी जाना जाता है। पिता अर्जन आडवाणी और मां काजल आडवाणी के घर पैदा हुए पंकज ने अपने जीवन के पहले 5 वर्ष कुवैत में अपने माता-पिता और बड़े भाई श्री आडवाणी के साथ में बिताए। आइए पंकज आडवाणी के जन्मदिन के अवसर पर जानते हैं उनकी शख़्सियत के बारे में..

chaltapurza.com

पंकज की बेंगलुरु में हुई प्रारंभिक और कॉलेज शिक्षा

कुवैत से लौटने के बाद पंकज आडवाणी का परिवार कर्नाटक राज्य स्थित बेंगलुरु में शिफ्ट हो गया। यहीं पंकज ने फ्रैंक एंथनी पब्लिक स्कूल से अपनी स्कूली और श्री भगवान महावीर जैन कॉलेज से कॉमर्स में स्नातक की डिग्री उत्तीर्ण की। पंकज स्कूल के होनहार छात्रों में से एक थे। उन्होंने कम उम्र में स्नूकर और बिलियर्ड्स खेल में अपनी प्रतिभा का कमाल दिखाना शुरू कर दिया था। बिलियर्ड्स के प्रति पंकज बचपन में ही आकर्षित हो गए थे। दरअसल, पंकज अपने बड़े भाई श्री के साथ कर्नाटक स्टेट बिलियर्ड्स एसोसिएशन के हॉल में आया करते थे। यहीं से उनके मन में ​बिलियर्ड्स के प्रति लगाव हो गया था।

chaltapurza.com

19 वर्ष की उम्र में 3 विश्व खिताब जीतकर रच दिया था इतिहास

प्र​सिद्ध अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी पंकज आडवाणी के बारे में सबसे ख़ास बात यह है कि उन्होंने बिलियर्ड्स और स्नूकर दोनों खेलों में एकसाथ सफलता प्राप्त की। पंकज मात्र 17 वर्ष की आयु में स्नूकर के राष्ट्रीय चैंपियन बन गए थे। इसके बाद पंकज ने इंटरनेशनल लेवल पर अपनी प्रतिभा का लौहा मनवा दिया। पंकज ने 18 साल की उम्र में वर्ष 2003 में अपना पहला विश्व खिताब जीता था। वहां से उनके अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरूआत हो गई थी।

पंकज ने मात्र 19 वर्ष की आयु में तीन विश्व खिताब जीतकर इतिहास रच दिया था। वह एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने अंकों तथा समय दोनों के आधार पर जीत हासिल की है और विश्व खिताब जीते हैं। इसके बाद पंकज आडवाणी भारत में बिलियर्डस के अति श्रेष्ठ खिलाड़ी के रूप में उभर कर सामने आए। आज पंकज बिलियर्डस और स्नूकर में जाना-माना भारतीय चेहरा है।

अब तक ऐसा रहा है वर्ल्ड बिलियर्ड्स चैंपियन का कॅरियर

आई.बी.एस.एफ. और विश्व बिलियर्ड्स चैंपियनशिप दोनों जीतने वाले पंकज आडवाणी दुनिया के एकमात्र खिलाड़ी हैं। वर्ष 2006 में पंकज ने दोहा में और वर्ष 2010 में ग्वांगझू में हुए एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था। वर्ष 2009 में पंकज ने नौ बार के विश्व चैंपियन मार्क रसेल को हराकर विश्व पेशेवर बिलियर्ड्स चैंपियनशिप की प्रतियोगिता अपने नाम की थी। पिछले साल पंकज ने आईबीएसएफ विश्व बिलियर्ड्स चैम्पियनशिप के लंबे और छोटे दोनों प्रारूपों के ख़िताब को रिकॉर्ड चौथी बार अपने नाम किया। पंकज का यह 21वां विश्व खिताब था।

chaltapurza.com

पंकज आडवाणी इन बड़े पुरस्कार से हो चुके हैं सम्मानित

सीनियर बिलियर्ड्स और स्नूकर खिलाड़ी पंकज आडवाणी ने अपने खेलों के दम पर दुनिया में बड़ा नाम कमाया है। पंकज के अतुलनीय प्रदर्शन के लिए उन्हें भारत सरकार के सर्वोच्च सम्मानों में से एक ‘पद्म भूषण (वर्ष 2018), पद्म श्री (वर्ष 2009), राजीव गांधी खेल रत्न (वर्ष 2006) और अर्जुन पुरस्कार (वर्ष 2004)’ से सम्मानित किया जा चुका है। आज पंकज आडवाणी को बिलियर्ड्स और स्‍नूकर के सर्वकालीन सर्वश्रेष्‍ठ खिलाड़ि‍यों में शुमार किया जाता है।

बर्थडे स्पेशल: ऑस्ट्रेलिया में 6 विकेट लेने वाले एकमात्र स्पिनर है युजवेंद्र चहल

COMMENT