स्वतंत्रता दिवस पर पुराने बल्बों की जगह LED बल्बों से संसद होगा रोशन, जानिए इसकी वजह

Views : 1540  |  0 minutes read

देश 15 अगस्त को अपनी आजादी की 73वीं वर्षगांठ मनाएगा। पूरे देश में इसे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। देश की संसद भी इस जश्न में शरीक होगी। आजादी के इस मौके पर भारतीय संसद को 800 एलईडी लाइटों से सजाया जाएगा। 13 अगस्त की शाम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसका उद्घाटन करेंगे।

यह कोई पहली बार नहीं हो रहा है बल्कि हर साल संसद के हर कोने को रोशन करने की पुरानी परंपरा रही हैं। संसद के अधिकारियों ने इस बारे में बताया कि इससे संसद भवन की सुंदरता और दृश्यता बढ़ेगी। संसद में आयोजित इस समारोह में आज सांसदों को भी आमंत्रित किया गया है।

भारत में स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के अवसर पर वर्ष 1950 से हर वर्ष सभी सरकारी बिल्डिंगों की तरह संसद भवन को बल्बों की रोशनी से जगमग किया जाता है। इसे रोशन करने के लिए करीब 22 हजार बल्बों का इस्तेमाल किया जाता था। परंतु वर्तमान में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘बिजली बचाओ अभियान’ के अंतर्गत पहली बार इन बल्बों की संख्या कम कर दी गई है। हाल में पीएम मोदी ने लोकसभा सचिवालय से कहा था कि कोई ऐसा रास्ता निकालो कि इस लाइट के बिल में कमी लाई जा सके।

पीएम मोदी के इस सुझाव पर अमल करते हुए वर्ष 2016 में लोकसभा अध्यक्ष के निर्देश के बाद पीली रोशनी वाले बल्बों के स्थान पर LED बल्बों का इस्तेमाल किया गया था। तब से ही पीले बल्बों की जगह LED बल्बों से संसद रोशन हो रहा है।

COMMENT