भारत: अब लोग सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर से करा सकेंगे कोरोना टीका की बुकिंग

Views : 1566  |  3 minutes read
Vaccine-Booking-Helpline-Number

देश में कोरोना वैक्सीन की कमी के कारण अभी करोड़ों लोगों का टीकाकरण नहीं हो सका है। साथ ही कई लोगों को कोविन एप के जरिए स्लॉट बुक कराने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन इसी बीच अब एक अच्छी खबर आई है। दरअसल, जो लोग कोविन एप चलाना नहीं जानते हैं उनके लिए सरकार ने एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है, जिस पर देश में लोग कहीं भी टीकाकरण के लिए आसानी से आवेदन कर सकेंगे। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। अब लोग 1075 नंबर कॉल करके टीकाकरण के लिए स्लॉट बुक करा सकेंगे। जो लोग इंटरनेट उपयोग नहीं करते हैं इससे उन्हें काफी सहायता मिलेगी। जानकारी के लिए बता दें कि ग्रामीण भारत के लोगों की शिकायत थी कि उन्हें एप के कारण खासी परेशानी हो रही है।

ग्रामीण क्षेत्रों में टीका बुकिंग के लिए सामान्य सेवा केंद्र काम करेंगे

कोरोना टीका के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी करने के बारे में राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण प्रौद्योगिकी के प्रमुख आरएस शर्मा ने बताया कि कि यह सुनिश्चित करने के लिए कि प्रणाली समावेशी है, हमने 1075 कॉल सेंटर खोले हैं जहां कोई भी कॉल करके टीकाकरण के लिए आवेदन कर सकता है। ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण के लिए स्लॉट बुक करने के लिए हमारे साथ भागीदारी करने वाले सभी सामान्य सेवा केंद्र काम करेंगे।

उन्होंने आगे कहा कि तथ्य यह है कि 45 से अधिक आयु वर्ग की आधी से अधिक आबादी केंद्र पर जाकर पंजीकरण करा रही है और टीकाकरण करवा रही है, यह प्रणाली की समावेशिता का पर्याप्त प्रमाण है। समस्या 18-45 आयु वर्ग में हो रही है, क्योंकि कोरोना टीके की आपूर्ति कम है। यह अस्थायी समस्या है। कोविन एप के बारे में शर्मा ने कहा कि व्यवस्था पारदर्शी है। चाहे वीवीआईपी हो या सामान्य नागरिक, हर कोई टीकाकरण के लिए रिक्तियों के एक ही डेटा को देख रहा है। यह लोगों को विश्वास दिलाता है कि सिस्टम किसी को कोई प्राथमिकता नहीं दे रहा है।

संक्रमण हिस्ट्री के बारे में कोई जानकारी एकत्र नहीं करता कोविन

इससे पहले कोविन प्लेटफॉर्म को लेकर उठे विवाद के बीच सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस मामले पर सफाई दी थी। केंद्रीय मंत्रालय ने कहा कि कोविन एप को देश में टीकाकरण के प्रबंधन के लिए एक मंच के रूप में बनाया गया है। यह किसी भी व्यक्ति के संक्रमण इतिहास के बारे में कोई जानकारी एकत्र नहीं करता है। कोविन एप सिर्फ दो शॉट्स के बीच अंतराल से संबंधित रिकॉर्ड की जानकारी एकत्र करता है। जैसा कि इसे लेकर हमलोग समय-समय पर सूचित भी करते रहते हैं। सोशल मीडिया पर एप के बारे में चल रही कई तरह की रिपोर्ट महज अफवाह है।

स्वास्थ्य कर्मियों के पीएम बीमा योजना दावे 48 घंटे में निपटाने होंगे, त्वरित मंजूरी का सिस्टम शुरू

COMMENT