नेपाल: सबसे बड़ी पार्टी के नेता के तौर पर पीएम नियुक्त किए गए ओली, 30 दिन के भीतर हासिल करना होगा विश्वासमत

Views : 1268  |  3 minutes read
Nepal-PM-KP-Sharma-Oli

नेपाल संसद में विश्वासमत गंवाने के कुछ दिन बाद ही केपी शर्मा ओली (69) ने शुक्रवार को तीसरी बार नेपाल के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली। नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने केपी ओली को शीतल निवास में एक समारोह में नेपाल के 43वें प्रधानमंत्री के तौर पर पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। आपको जानकारी के लिए बता दें कि राष्ट्रपति भंडारी ने नेपाल की प्रतिनिधि सभा में सबसे बड़ी पार्टी के नेता के तौर पर ओली को प्रधानमंत्री नियुक्त किया है।

पुराने मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों नए मंत्रिमंडल में दी जगह

शपथ ग्रहण समारोह के दौरान केपी शर्मा ओली के पुराने मंत्रिमंडल के मंत्रियों ने भी शपथ ली। पुराने मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों और राज्य मंत्रियों को नए मंत्रिमंडल में जगह दी गई है। जानकारी के अनुसार, प्रदीप ज्ञवाली को विदेश मंत्री जबकि राम बहादुर थापा को गृह मंत्री और बिष्णु पौडयाल को वित्त मंत्री बनाया गया है। नेपाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए शपथ ग्रहण समारोह में सीमित लोगों की मौजूदगी रही थी। ओली के नए मंत्रिमंडल में 22 मंत्री और तीन राज्य मंत्री शामिल हैं।

विपक्ष नई सरकार बनाने के लिए बहुमत हासिल करने में विफल

नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीएन-यूएमएल) के अध्यक्ष केपी शर्मा ओली को गुरुवार को प्रधानमंत्री पद पर फिर से नियुक्त किया गया था, जब विपक्षी पार्टियां नई सरकार बनाने के लिए संसद में बहुमत हासिल करने में विफल रही थीं। उल्लेखनीय है कि इससे तीन दिन पहले ओली प्रतिनिधि सभा में अहम विश्वास मत हार गए थे। नेपाल के कानून के अनुसार, ओली को अब 30 दिन के भीतर सदन में विश्वासमत हासिल करना होगा, जिसमें विफल रहने पर संविधान के अनुच्छेद 76 (5) के तहत सरकार बनाने का प्रयास शुरू किया जाएगा।

भारत: रूसी कोरोना टीके स्पूतनिक-वी की कीमत तय, अगले हफ्ते से बाजार में होगी वैक्सीन

COMMENT