प्यार के परिंदों को सरहदें भी नहीं रोक पाईं, श्रीलंकन युवती और गोविंद की लव स्टोरी का पीएम मोदी से है खास कनेक्शन

Views : 4936  |  0 minutes read
chaltapurza.com

किसी ने सच ही कहा है कि प्यार के परिंदों को सरहदें भी नहीं रोक सकती। मोहब्बत का कोई मज़हब, सरहद या मुल्क नहीं होता है। हाल ही में इस बात का गवाह बना हंसिनी और गोविंद का प्रेम। वेलेंटाइन वीक में दोनों ने अपने इस प्यार को शादी के रूप में बदल दिया है। इस लव स्टोरी के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भी खास कनेक्शन जुड़ा हुआ है। श्रीलंकन युवती हंसिनी और भारतीय युवक गोविंद दोनों को ट्विटर पर प्यार हुआ और अब दोनों हमेशा के लिए एक-दूसरे के सुख-दुख के साथी बन गए हैं। खास बात यह है कि इन दोनों की प्रेम कहानी बेहद दिलचस्प है। दरअसल, दोनों ही प्रधानमंत्री मोदी को ट्वीटर पर फॉलो करते हैं। यहीं से दोनों की लव स्टोरी की शुरूआत हुई।

chaltapurza.com

पीएम की पोस्ट को हंसिनी ने किया था लाइक, इस पर गोविंद को आया ख्याल

जानकारी के मुताबिक, ट्विटर पर पीएम मोदी की किसी एक पोस्ट को गोविंद ने लाइक किया था और उसी पोस्ट को हंसिनी ने भी लाइक किया। इस लड़की के लाइक को गोविंद ने यहां देखा इसके बाद उसके मन में ख्याल आया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को फॉलो करने और उनकी पोस्ट को लाइक करने वाली यह लड़की आखिर कौन है? उसे हंसिनी के बारे में जब पता लगा तो वह भी पीएम मोदी की बड़ी प्रशंसक निकली। सबसे पहले गोविंद ने हंसिनी को हाय लिखकर पहला मैसेज किया। गोविंद का यह हाय धीरे-धीरे हैलो, हाउ आर यू और फिर आखिर में आई लव यू में बदल गया। दोनों के बीच जब प्यार गहरा हुआ तो हंसिनी इंडिया आ गई। हंसिनी ने अपने फैमिली को मनाकर भारत में फिजियोथेरेपिस्ट का कोर्स किया। वहीं, इस बीच गोविंद ने भी अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी की।

दोनों ने दिल की बात परिवार वालों को बताई और सहमति से विवाह रचाया

करीब दो साल तक लव स्टोरी चलने के बाद दोनों ने अपने परिवार को दिल की बात बता दी। शादी के लिए दोनों परिवारों की सहमति मिलने के बाद दोनों ने हाल ही में धूमधाम से विवाह रचाया है। हंसिनी के माता-पिता बौद्ध धर्म से होने के चलते चाहते थे कि उनकी बेटी के ससुराल वाले शाकाहारी हो। इसके बाद वे परिवार समेत भारत आए। यहां गोविंद का शाकाहारी परिवार श्रीलंका के पुण्यरत्ने इंद्रीसिंघे और उनके परिवार को बहुत पसंद आया। इसके बाद उन्होंने अपनी बेटी हंसिनी के रिश्ते पर सहमति जताते हुए दोनों की शादी करा दी। हाल ही में बसंत पंचमी के अवसर पर दोनों ने बड़ी धूमधाम से शादी रचाई है।

पेशे से फिजियोथेरेपिस्ट है हंसिनी, मध्य प्रदेश के किसान का बेटा है गोविंद

श्रीलंकाई दुल्हन हंसिनी इंद्रीसिंघे पेशे से फिजियोथेरेपिस्ट हैं। हंसिनी के पिता श्रीलंका में सुप्रीम कोर्ट के वकील हैं, जबकि उनकी मां प्रोफ़ेसर हैं। जबकि मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले के गांव कुंचड़ोद निवासी गोविंद माहेश्वरी एक किसान परिवार से आते हैं। उन्होंने शिक्षा में बीई किया है और अब गांव में ही अपना ​कारोबार चलाते हैं। गोविंद के ​पिता के पास थोड़ी खेती भी है। दोनों परिवार ही इस रिश्ते से बेहद खुश हैं।

chaltapurza.com

गोविंद माहेश्वरी के माता-पिता व परिवार के अन्य लोगों का कहना है कि पहले हम डरे हुए थे कि कहीं फेक आईडी तो नहीं है। कोई भी इस तरह के प्यार के चक्कर में पड़कर ठगी का शिकार हो सकता है, लेकिन जब दूल्हे गोविंद के परिजनों ने दुल्हन हंसिनी को वीडियो कॉलिंग पर देखा और उससे बात की तो उनको यकीन हो गया कि यह आईडी फेक नहीं है। गोविंद बताते हैं कि उनकी हंसिनी से पहली बार पहचान ट्विटर के जरिए हुई थी। फिर स्काइप पर हम दोनों वीडियो कॉल पर बात करने लगे। आगे चलकर हमारी दोस्ती प्यार में बदल गई और अब 10 फरवरी को हमनें शादी करली है।

Read More: गुलाब की बढ़ी डिमांड, प्यार का इज़हार पड़ेगा महंगा, वजह यहां जानें…

COMMENT