विश्व पर्यटन दिवस: भारत की वर्ल्ड टूरिज्म इंडेक्स में लंबी छलांग, बढ़ रहा है पर्यटन उद्योग

Views : 1256  |  0 minutes read

आज के समय में टूरिज्म कई देशों की अर्थव्यवस्था में महत्त्वपूर्ण योगदान दे रहा है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर भारत में भी पर्यटन को बढ़ावा दिया जा रहा है। जिसके परिणामस्वरूप भारत के पर्यटन क्षेत्र के लिए वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की ताजा रिपोर्ट में अच्छी रैंक प्राप्त हुई है। यह भारत के पर्यटन उद्योग के लिए एक अच्छी खबर है। इस रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2015 में भारत इस इंडेक्स में 52वें स्थान पर था, अब 2019 में वह 34वें स्थान पर पहुंच गया है। भारत ने इस सूची में टॉप 25 देशों को पछाड़ दिया है। रैंकिंग के साथ ही भारत के स्कोर में भी इजाफा हुआ है।

टूरिज्म में जहां भारत का स्कोर वर्ष 2015 में 4.0 था, जो अब बढ़कर 4.4 हो गया है। आंकड़ों के अनुसार भारत में स्वास्थ्य, स्वच्छता, सुरक्षा, टूरिस्ट सर्विसेज और इंफ्रास्ट्रक्चर में बेहतर सुधार किया है। इन सुधारों की वजह से वैश्विक टूरिज्म रैंकिंग में भारत को फायदा मिला है। भारत की प्राकृतिक छंटा और ऐतिहासिक धरोहर विदेशी सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करने में कामयाब रहे हैं।

इस सूची में पहले पायदान पर है स्पेन

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने दुनिया के कुल 140 देशों को टूरिज्म इंडेक्स में सम्मिलित किया है। डब्ल्यूईएफ के इस इंडेक्स में यूरोपीय देश स्पेन सर्वोच्च स्थान पर काबिज है और वह वर्ष 2015 से सूची में टॉप काबिज है। वहीं फ्रांस, जर्मनी, जापान, अमेरिका, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, इटली, कनाडा और स्विट्जरलैंड शीर्ष 10 देशों में शामिल किए गए हैं। डब्ल्यूईएफ की ओर से यह रिपोर्ट हर 2 वर्ष में एक बार जारी की जाती है।

भारत ने वैश्विक पर्यटन में अन्य दक्षिण एशियाई देशों के मुकाबले अपने पर्यटन उद्योग में बेहतर कार्य किया है। भारत में पर्यटन काफी सस्ता और आकर्षक है जो सैलानियों को अपनी ओर आकर्षित करता है। विश्व बैंक के मुताबिक वर्ष 2017 में लगभग 1.5 करोड़ विदेशी भारत घूमने आए थे। वहीं भारत के पर्यटन उद्योग से 2.8 करोड़ लोगों को रोजगार मिल रहा है, जो जीडीपी में 3.6 फीसदी योगदान देता है।

COMMENT